nirmala
   Date18-Nov-2021

ws4_1  H x W: 0
नई दिल्ली ठ्ठ 17 नवम्बर (ए)
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने भारतीय उद्योग जगत का निवेश और क्षमता विस्तार करने का जोखिम उठाने का आव्हान करते हुए बुधवार को कहा कि कोरोना महामारी के कारण उत्पन्न गंभीर रुकावटों के बावजूद भारत दुनिया की सबसे तेज वृद्धि कर रही अर्थव्यवस्थाओं में से एक है। वित्त मंत्री ने घरेलू उद्योगों को निवेश का जोखिम उठाने का आव्हान करते हुए कहा कि उनके निवेश के फैसलों को देख कर सरकार भी अपनी नीतियों और वित्तीय पहलों को गति दे सकती है। सरकार निजी क्षेत्र की इकाइयों के लिए कारोबार की सुगमता बढ़ाने और नियमों के अनुपालन को आसान बनाने के उपाय लागातार कर रही है। उन्होंने यहां भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) द्वारा आयोजित वैश्विक नीति शिखर सम्मेलन-2021 को संबोधित करते हुए भारत कोविड महामारी के झटके के बाद जिस तेजी से खड़ा हुआ है, उससे भारतीय अर्थव्यवस्था की आंतरिक मजबूती परिलक्षित होती है। माइक्रो चिप और समुद्री परिवहन में काम आने वाले कंटेनरों की कमी न पैदा होती तो भारत में वाहनों की बिक्री भी अच्छी रहती।
लोगों के सामूहिक प्रयास से हम फिर खड़े हो गए - श्रीमती सीतारणम ने कहा यह लोगों का सामूहिक प्रयास है कि आज हम फिर खड़े हो गए हैं और हम कह सकते हैं कि महामारी के बावजूद भारत सबसे तेजी से वृद्धि दर्ज कर रही अर्थव्यवस्थाओं में से एक है। उन्होंने भारत के कोविड-19 टीकाकरण अभियान का भी उल्लेख किया और कहा कि इसकी सफलता से दुनिया आश्चर्य है। वित्त मंत्री ने कहा इसका श्रेय जनता को दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि देश के उद्यमियों से कहा आप समझिए कि देश चाहता क्या है?