बर्ड फ्लू को लेकर केन्द्र सरकार सख्त
   Date07-Jan-2021

df2_1  H x W: 0
नई दिल्ली ठ्ठ 6 जनवरी (वा)
हाल में देशभर में बड़ी संख्या में पक्षियों की मौत से सनसनी फैल गई है। ऐसे में केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय ने राज्य के मुख्य सचिवों और मुख्य वन्यजीव वार्डन को पत्र लिखकर कहा है कि वे एवियन इन्फ्लूएंजा के लिए निगरानी समितियों का गठन करें क्योंकि देशभर में प्रवासी पक्षियों की निगरानी के लिए एक कार्य योजना तैयार की जा रही है।
इधर, अधिकारियों ने बताया कि अकेले राजस्थान में सोमवार को 175 कौवे और अन्य पक्षी मृत पाए गए। पड़ोसी राज्य मध्यप्रदेश में पिछले सप्ताह में 500 से अधिक कौवे मारे गए हैं। हिमाचल प्रदेश, राजस्थान और मध्यप्रदेश जैसे राज्यों से प्रवासी पक्षियों सहित बड़ी संख्या में मौतें हुई हैं। पत्र में कहा गया है, भोपाल के आईसीएआर-नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हाई-सिक्योरिटी एनिमल डिजीज में नमूने का परीक्षण किया गया है और एच 5 एनएल एवियन इन्फ्लुएंजा वायरस से पॉजिटिव पाया गया है। इस पत्र में कहा गया कि इसकी गंभीर स्थिति और मनुष्यों और अन्य पालतू जानवरों में रोग के प्रसार की संभावना को देखते हुए राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से अनुरोध है कि इसको रोकने के लिए सभी कदम उठाए जाएं। बीमारी के किसी भी लक्षण के लिए, पक्षियों की निगरानी और इसे नियंत्रित करने के लिए उचित उपाय करना प्राथमिकता होनी चाहिए। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार मनुष्य सीधे संपर्क के माध्यम से एवियन इन्फ्लूएंजा, या बर्ड फ्लू से संक्रमित हो सकता है और हल्के बुखार और खांसी, जल्दी थूक उत्पादन और गंभीर निमोनिया इसके लक्षण हो सकते हैं और इससे मृत्यु भी हो सकती है।