प्रदेश को 'माफियामुक्तÓ बनाने का लें संकल्प
   Date05-Jan-2021

er6_1  H x W: 0
भोपाल द्य 4 जनवरी (वा)
सुशासन को प्राथमिकता दे रहे मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने आज फिर कहा कि इस राज्य को माफियामुक्त बनाना है और प्रशासन इस दिशा में और बेहतर ढंग से कार्य करे।
श्री चौहान ने यहां वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए राज्य के सभी संभाग आयुक्तों, कलेक्टर, पुलिस महानिरीक्षकों और पुलिस अधीक्षकों की कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया। श्री चौहान ने पिछले दिनों अनेक जिलों में असामाजिक तत्वों और माफियाओं के खिलाफ की गई कार्रवाई का जिक्र करते हुए कहा कि प्रदेश को पूरी तरह माफियामुक्त करना है। यह सभी अधिकारी सुनिश्चित करें और साथ ही यह भी सुनिश्चित करें कि गरीबों को कोई परेशानी नहीं हो, लेकिन गुंडे-बदमाशों को किसी भी तरह से बख्शा नहीं जाए। मुख्यमंत्री ने मौसम में आए बदलाव का भी जिक्र किया और धान, ज्वार और बाजरा खरीदी का कार्य बेहतर ढंग से करने वाले जिलों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि मौसम में आए बदलाव के चलते फसलों की सुरक्षा की व्यवस्थाएं भी की जाए। उन्होंने कोरोना वैक्सीन को लेकर आने वाले समय में वैक्सीनेशन (टीकाकरण) कार्य की तैयारियों की जानकारी भी ली। श्री चौहान ने दिसम्बर माह में हुई इस तरह की बैठक में तय किए गए लक्ष्यों की प्रगति की भी समीक्षा की।
स्वस्थ प्रतिस्पर्धा जरूरी, अंधी गली में नहीं चलना है-मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश को हर योजना में नंबर वन रहना है। जिलों में स्वस्थ प्रतिस्पर्धा होना चाहिए। श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश को प्रधानमंत्री जी की योजनाओं में भी आगे रहना है। कलेक्टर्स भी स्थानीय स्तर पर जिले के विकास की योजनाएं बनाएं। हमें अंधी गली में नहीं चलना है। योजनाओं की नियमित मॉनीटरिंग हो। कमिश्नर और आई.जी. भी अपने अधिकार क्षेत्र में सभी कार्यों पर नजर रखें। विकास का वार्षिक प्लान तैयार करना है। एक अप्रैल से इस प्लान पर चलना है। हर माह समीक्षा होगी। इसी आधार पर जिले की रेटिंग होगी, विभागों की भी रेटिंग होगी। उन्होंने कहा कि हमें राजस्व भी बढ़ाना है। धनराशि की कमी का तर्क नहीं चलेगा। जिलों की भूमिका महत्वपूर्ण होगी।