बिहार को 709 करोड़ के कार्यों की सौगात
   Date14-Sep-2020

xc6_1  H x W: 0
पटना द्य 13 सितम्बर (वा)
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार में इस वर्ष होने वाले विधानसभा चुनाव की घोषणा से पहले करीब 709 करोड़ रुपए के विकास कार्योंं का शिलान्यास कर बिहार और पूर्वी भारत के विकास के लिए अपनी प्रतिबद्धता दोहराते हुए कहा कि वे लंबे समय से कहते आ रहे हैं कि जब तक इस क्षेत्र का विकास नहीं होगा तब तक भारत विकसित देश नहीं बन सकता।
श्री मोदी ने दुर्गापुर से बांका के बीच 634 करोड़ रुपए की एलपीजी पाइप लाइन योजना, पूर्वी चंपारण के सुगौली में 164 करोड़ रुपए और बांका में 14 करोड़ रुपए के एलपीजी बॉटलिंग संयंत्र का वीडियो कॉन्फे्रंसिंग के माध्यम से उद्घाटन करने के बाद कहा कि पूर्वी भारत में न तो सामथ्र्य की कमी है और न संसाधन की। इसके बावजूद पूर्वी भारत और बिहार दशकों तक पीछे रह गए, लेकिन देश और पूर्वी भारत उस दौर से बाहर निकल गया है जब एक पीढ़ी काम शुरू होते और दूसरी पीढ़ी उसे पूरा होते देखती थी। प्रधानमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार बिहार और पूर्वी भारत के विकास के लिए प्रतिबद्ध है। वह लंबे समय से कह रहे थे कि भारत तब तक विकसित देश नहीं बन सकता जब तक कि बिहार और भारत के पूर्वी हिस्से में विकास सुनिश्चित नहीं किया जाता। उन्होंने कहा कि करोड़ों रुपए की परियोजनाओं को पूरा होने के बाद बिहार के विकास की गति को तेज करने में मदद मिलेगी और बड़ी संख्या में स्थानीय लोगों को रोजगार भी मिलेगा। श्री मोदी ने कहा कि एलपीजी से संबंधित परियोजनाओं के पूरा होने के बाद बिहार में गैस आधारित अर्थव्यवस्था आगे बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के कठिन दौर में राज्य के लोगों ने कड़ी मेहनत की और इस वजह से बिहार में विकास की गति निरंतर बनी रही, जो वास्तव में सराहनीय है।
श्री मोदी ने कहा कि उनकी सरकार शुरू की गई योजनाओं का काम निर्धारित समय अवधि में पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि नए भारत और नए बिहार में इसी कार्य संस्कृति को हमें और मजबूत करना है, निश्चित तौर पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की इसमें बहुत बड़ी भूमिका है। प्रधानमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत आठ करोड़ गरीब परिवारों को रसोई गैस का कनेक्शन उपलब्ध कराया गया है। रसोई गैस का कनेक्शन मिल जाने से कोरोना काल में ऐसे लोगों को काफी राहत मिली है, नहीं तो उन्हें ईंधन के लिए जलावन इकट्ठा करने में काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता। पहले जिन परिवारों में रसोई गैस का कनेक्शन होता था उन्हें समाज का संभ्रांत समझा जाता था, लेकिन उनकी सरकार ने गरीबों को भी यह सुविधा उपलब्ध करा दी है।
श्री मोदी ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की प्रशंसा करते हुए कहा कि उनकी सरकार ने बिहार के करीब सभी क्षेत्रों का परिदृश्य बदलने के लिए कई आवश्यक कदम उठाए हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री कुमार के प्रयासों का ही परिणाम है कि राज्य में भारतीय प्रौद्योगिक संस्थान (आईआईटी), औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आईटीआई), केंद्रीय विश्वविद्यालय एवं चाणक्य लॉ विश्वविद्यालय जैसे गुणवत्तापूर्ण शिक्षण संस्थानों की स्थापना हो सकी है। आज बिहार में पॉलिटेक्निक संस्थानों की संख्या पहले के मुकाबले तीन गुना अधिक हो गई है।