कंगना का कार्यालय तोडफ़ोड़ : हाईकोर्ट ने बीएमसी से कहा-
   Date10-Sep-2020

az5_1  H x W: 0
इतनी तेजी बाकी अवैध निर्माणों पर दिखाते तो मुंबई कुछ और ही होती
मुंबई द्य कंगना रानोत के हिमाचल से मुंबई पहुंचने से पहले बीएमसी ने उनके मुंबई ऑफिस में अवैध कब्जा हटाने की कार्रवाई की। बीएमसी ने दफ्तर में दो घंटे तोडफ़ड़ की। कंगना ने कहा कि उन्होंने मुंबई को पीओके कहकर कुछ गलत नहीं किया। वो अपना दफ्तर तोड़े ेजाने के खिलाफ बॉम्बे हाईकोर्ट गईं, जिसके बाद अदालत ने कार्रवाई पर रोक लगाते हुए बीएमसी से जवाब मांगा। हाई कोर्ट ने कहा- बीएमसी ने जो कुछ किया, उसके पीछे दुर्भावना है और यह काम निंदनीय है। जिस तरह से बीएमसी ने निर्माण को ढहाने का काम किया, वह उसके पीछे अच्छी नीयत नहीं नजर आती। इसके पीछे बदनीयती नजर आती है। अचानक बीएमसी नींद से जागता है और याचिकाकर्ता को नोटिस जारी कर देता है। और, वो भी तब जब वो राज्य से बाहर है। हम मदद नहीं कर सकते, पर यह जरूर कहना चाहेंगे कि अगर बीएमसी ने इसी तरह की तेजी दूसरे अवैध निर्माणों पर एक्शन लेने में दिखाई होती तो यह शहर रहने के लिए कुछ और ही जगह होता।