अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए भक्तदिल खोलकर कर रहे दान सोने-चांदी की ईंटों के साथ 22 करोड़ मिले
   Date29-Jul-2020

qw1_1  H x W: 0
अयोध्या द्य 28 जुलाई (वा)
अयोध्या में राम जन्मभूमि परिसर में भव्य राम मंदिर निर्माण के लिए बड़े पैमाने पर भक्त दिल खोलकर दान कर रहे हैं। भव्य मंदिर की नींव के लिए भक्तों द्वारा सोने और चांदी की ईंटों के अलावा अभी तक 22 करोड़ रुपए दिए जा चुके हैं।
ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने मंगलवार को यहां कहा कि लोग बड़ी संख्या में चांदी की ईंटें दान कर रहे हैं, लेकिन हमें निर्माण कार्य के लिए नकद धन की आवश्यकता है। उन्होंने कहा- मैं लोगों से अपील करता हूं कि वे चांदी की ईंटों का दान करने के बजाय हमारे बैंक खाते में नकद धन जमा करें। निर्माण कंपनियों द्वारा मूल्यांकन किए गए राम मंदिर की प्रारंभिक लागत के अनुसार, इसके लिए 500 से 800 करोड़ रुपए की निधि की आवश्यकता होगी। हालांकि मंदिर परिसर को क्षेत्रफल बढ़ गया तो यह लागत और बढ़ सकती है।
टाइम कैप्सूल की बात झूठ-उधर चंपत राय ने उन रिपोर्टों का खंडन किया है, जिनमें कहा गया है कि श्रीराम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण के पहले जमीन में दो हजार फीट की गहराई में एक धातु के बक्से में 'टाइम कैप्सूलÓ गाड़ा जाएगा। विविध समाचार माध्यमों में श्रीराम जन्मभूमि पर टाइम कैप्सूल रखे जाने की बात की जा रही है। जमीन के दो हजार फीट नीचे तांबे या अन्य धातु से बने बक्से में लेखा-जोखा आने वाले पीढिय़ों के लिए जतन करके रखी जाएगी।
विश्व हिंदू परिषद के उपाध्यक्ष चंपत राय ने कहा कि वह लोगों को बताना चाहते हैं कि श्रीराम जन्मभूमि पर टाइम कैप्सूल की बात सरासर झूठी है और उन्होंने जनता से अपील की श्रीराम जन्मभूमि के संदर्भ में केवल अधिकृत वक्तव्य को ही सोशल मीडिया पर साझा करना चाहिए।