अयोध्या में रामायणकालीन पौधों का किया जाएगा रोपण
   Date28-Jul-2020

rd1_1  H x W: 0
अयोध्या द्य 27 जुलाई (वा)
उत्तरप्रदेश के अयोध्या में श्रीरामजन्मभूमि परिसर में रामायणकालीन वृक्षों से भरपूर हरियाली हो, इसके लिए पौधारोपण किया जाएगा। आधिकारिक सूत्रों ने सोमवार को यहां बताया कि रामजन्मभूमि परिसर में भरपूर हरियाली हो, इसके लिए रामायणकालीन वृक्षों से भरपूर पौधारोपण किया जाएगा। परिसर में वाल्मीकि रामायण से वर्णित पौधे अनिवार्य रूप से रोपे जाएंगे। वाल्मीकि रामायण के उत्तरकांड के बयालीसवें सर्ग में इन पौधों का जिक्र किया गया है। देवी सीता को प्रभु राम अशोक वाटिका में विहार कराने ले गए थे। इसी प्रसंग में उपवन में लगे पौधों का वर्णन आया है। उन्होंने बताया कि इस उपवन में चंदन, अगरू, आम, तुग (नारियल), कालेयक (रक्त चंदन) तथा देवदार शोभायमान थे। इसके अलावा चंपा, अशोक, पुनाग, महुआ, कटहल, असन तथा धूमरहित अग्नि के समान प्रकाशित होने वाले पारिजात से वाटिका सुशोभित थी। इसी तरह लोध, कदम्ब, अर्जुन, नागकेसर, चितवन, अतिमुक्तक, मदार, कदली तथा गुल्मों व लताओं के समूह व्याप्त थे।