चुनौतियों को अवसर में बदलना कोई उत्तरप्रदेश से सीखे - मोदी
   Date27-Jun-2020

rf1_1  H x W: 0
लखनऊ द्य 26 जून (वा)
कोरोना संकटकाल में चुनौतियों को अवसर में बखूबी बदलने के लिए योगी सरकार की तारीफ करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि दुनिया के कई देशों से बड़ी आबादी वाले उत्तर प्रदेश ने जिस तरह कोरोना वायरस से उत्पन्न परिस्थितियों से निपटा, वह अनुकरणीय है और अन्य राज्यों को इसका अनुसरण करने की जरूरत है।
श्री मोदी ने गरीब कल्याण रोजगार अभियान का शुभारंभ करते हुए कहा कि पूरी दुनिया के लिए दहशत का पर्याय बने कोरोना की वैक्सीन तैयार होने तक लोगों को दो गज की दूरी और फेस मास्क का इस्तेमाल करना चाहिए। यही इस जानलेवा वायरस से बचे रहने का उपाय है। श्री योगी ने कोरोना की गंभीरता का अंदाज लगाते हुए न सिर्फ अस्पतालों को आधुनिक उपकरणों से सुसज्जित किया बल्कि महज ढाई तीन महीनों में मरीजों के लिए एक लाख बिस्तरों की व्यवस्था सुनिश्चित करा दी। उन्होंने कहा कि योगी सरकार ने कोरोना से निपटने के लिए जनसहभागिता सुनिश्चित करते हुए 60 हजार निगरानी समितियों का गठन किया। क्वॉरेंटाइन सेंटर और आईसोलेशन सेंटर के इंतजाम किए गए। इसके साथ ही अन्य राज्यों में रोजगार गंवा कर मुसीबत में पड़े प्रवासी
श्रमिकों के घर लौटने की व्यवस्था करा दी और 35 लाख से अधिक प्रवासी श्रमिक ट्रेनों के जरिये अपने गांवों को लौट सके। प्रधानमंत्री ने कहा कि योगी सरकार ने इन श्रमिकों की स्किल मैपिंग कराकर उनके लिए रोजगार का इंतजाम किया वहीं 15 करोड़ से अधिक गरीब परिवारों के लिए मुफ्त राशन की व्यवस्था की गई। योगी सरकार के मंत्री और अधिकारी आपदा को अवसर में बदलने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे है जो समूचे देश के लिए एक मिसाल है। उन्होंने कहा कि 2017 से पहले की अगर कोई और सरकार होती तो इस संकट से निजात पाना उसके लिए असंभव होता। ऐसी परिस्थितियों में अस्पतालों का रोना रोया जाता लेकिन मौजूदा सरकार देश ही नहीं बल्कि दुनिया के कई देशों के लिए एक मिसाल कायम कर चुकी है।