सीबीएसई : परिणाम के लिए आंतरिक आकलन योजना को 'सुप्रीमÓ मंजूरी
   Date27-Jun-2020

rf2_1  H x W: 0
नई दिल्ली द्य 26 जून (वा)
उच्चतम न्यायालय ने केंद्रीय माध्यमिक परीक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की 10वीं एवं 12वीं की रद्द परीक्षाओं के लिए आंतरिक आकलन के आधार पर परीक्षा परिणाम जारी करने की योजना के बोर्ड के मसौदे को शुक्रवार को मंजूर कर लिया।
मानव संसाधन विकास मंत्रालय और सीबीएसई की ओर से पेश सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने न्यायमूर्ति एएम खानविलकर, न्यायमूर्ति दिनेश माहेश्वरी और न्यायमूर्ति संजीव खन्ना की खंडपीठ के कल के आदेश के अनुरूप नई अधिसूचना का मसौदा पेश किया, जिसे उसने स्वीकार कर लिया। न्यायालय ने स्पष्ट कर दिया कि 10वीं और 12वीं की शेष परीक्षाओं को रद्द करने और उससे संबंधित विभिन्न पहलुओं पर सीबीएसई के आदेश का नियमन नई अधिसूचना के तहत किया जाएगा। श्री मेहता ने न्यायालय को बताया कि सीबीएसई एक घंटे के भीतर ही नई अधिसूचना जारी करेगा।
क्योंकि विद्यार्थी बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। हालांकि इंडियन सर्टिफिकेट ऑफ सेकंंंडरी एजुकेशन (आईसीएसई) ने एक सप्ताह के भीतर नई अधिसूचना जारी करने की बात की।
न्यायालय में सौंपी गई नई अधिसूचना में सीबीएसई ने कहा है कि उसने 10वीं और 12वीं की एक से 15 जुलाई तक होने वाली परीक्षाएं रद्द कर दी है और परिणाम के लिए आंतरिक आंकलन का सहारा लिया जाएगा। नई अधिसूचना में कहा गया है कि आंतरिक आंकलन योजना के आधार पर परीक्षा परिणाम 15 जुलाई तक प्रकाशित किए जाएंगे, ताकि विद्यार्थी भारत एवं विदेशों में उच्च शिक्षा के लिए नामांकन के वास्ते आवेदन कर सकेंगे। सीबीएसई ने, हालांकि यह स्पष्ट किया है कि छात्रों के लिए परीक्षा का विकल्प भी खुला रहेगा। जिन छात्रों का आंतरिक आंकलन के आधार पर परीक्षा परिणाम जारी होगा, वे भी फिर से परीक्षा के विकल्प का इस्तेमाल कर सकते हैं। जब तक कोई छात्र विकल्प का इस्तेमाल नहीं करता, उसका आंतरिक आंकलन योजना के तहत जारी परीक्षा परिणाम अंतिम माना जाएगा। सीबीएसई ने स्पष्ट किया कि परीक्षा का विकल्प केवल 12वीं के छात्रों के लिए होगा, 10वीं के लिए नहीं। दसवीं के लिए परीक्षा परिणाम आंतरिक आंकलन के आधार पर ही अंतिम होगा। सीबीएसई ने आंकलन योजना के तहत कहा है कि जो विद्यार्थी तीन से अधिक विषयों की परीक्षा में शामिल हो चुके हैं उनके सर्वाधिक अंक वाले तीन विषयों का औसत निकालकर उसी के अनुरूप छूटे हुए विषयों में अंक प्रदान किए जाएंगे, लेकिन जिन छात्रों ने केवल तीन विषयों की ही परीक्षा दी थी, उनके सबसे अधिक अंक वाले दो विषयों का औसत निकालकर शेष विषयों में अंक दिए जाएंगे।
नोटिफिकेशन की 10 प्रमुख बातें
ठ्ठ 1 जुलाई से 15 जुलाई के बीच होने वाली 10वीं, 12वीं की परीक्षाएं रद्द हुईं।
ठ्ठ जिन छात्रों की परीक्षाएं शेष रह गई थीं उनका रिजल्ट पिछले तीन पेपरों के आधार पर असेसमेंट स्कीम के तहत जारी किया जाएगा। वहीं जिन छात्रों की परीक्षाएं पूरी हो चुकी थी उनका रिजल्ट परीक्षा पर मिले माक्र्स के आधार पर जारी किया जाएगा।
ठ्ठ असेसमेंट स्कीम के तहत जारी होने वाले रिजल्ट 15 जुलाई तक जारी कर दिया जाएगा जिससे कि छात्र उच्च शिक्षा के लिए देश-विदेश के संस्थानों में समय पर आवेदन कर सकें।
ठ्ठ सीबीएसई बोर्ड 12वीं के छात्रों को 1 से 15 जुलाई के बीच होने वाली परीक्षाओं के लिए परीक्षा में बैठने का विकल्प भी देगा। हालात सामान्य होने पर ये परीक्षाएं आयोजित कराई जाएंगी। केंद्र सरकार द्वारा फैसला किया गया है कि असेसमेंट स्कीम का रिजल्ट जारी होने बाद भी छात्र अपने अंक सुधारने के लिए वैकल्पिक परीक्षा दे सकता है। लेकिन परीक्षा देने की स्थिति में परीक्षा में मिलने वाले अंक ही फाइनल माने जाएंगे।
ठ्ठ सीबीएसई 10वीं के छात्रों का रिजल्ट असेसमेंट स्कीम के तहत जारी किया जाएगा। 10वीं के छात्रों को आगे परीक्षा का कोई विकल्प नहीं मिलेगा। असेसमेंट स्कीम के तहत मिलने वाले अंक ही फाइनल माने जाएंगे।
ठ्ठ वहीं 12वीं कक्षा का असेसमेंट स्कीम के तहत जारी किया जाने वाला रिजल्ट भी उन छात्रों के लिए फाइनल रिजल्ट माना जाएगा जो परीक्षा का विकल्प नहीं चुनते हैं। जबकि परीक्षा का विकल्प चुनने वाले छात्रों का फाइनल रिजल्ट परीक्षा में मिलने वाले अंकों को माना जाएगा।
ठ्ठ क्या है सीबीएसई की असेमेंट स्कीम- 10वीं, 12वीं दोनों के लिए - (१) जो छात्र अपनी सभी पेपरों की परीक्षाएं दे चुके हैं उनका रिजल्ट परीक्षा के आधार पर जारी किया जाएगा। (२) जिन छात्रों ने तीन से अधिक पेपर दे चुके हैं उनका रिजल्ट पहले से हो चुके पेपर्स के एवरेज माक्र्स शेष पेपर्स के लिए दिए जाएंगे।
ठ्ठ जिन छात्रों ने केवल तीन पेपर ही दे पाएं हैं उनका रिजल्ट भी तीन पेपरों के एवरेज माक्र्स बाकी पेपर्स के लिए दिए जाएंगे।
ठ्ठ सीबीएसई 12वीं में ऐसे बहुत कम छात्र बचे हैं जिन्होंने केवल एक या दो पेपर दिए हैं। ऐसे छात्र खासकर दिल्ली के हैं। इन छात्रों का रिजल्ट उनके पेपर्स, इंटरनल असेसमेंट और प्रोजेक्ट रिपोर्ट के आधार पर दिए जाएंगे।
ठ्ठ दिल्ली के इन कुछ छात्रों को भी असेसमेंट रिजल्ट के बाद परीक्षा में बैठने का विकल्प दिया जाएगा। बशर्ते उन्होंने परीक्षा का विकल्प रिजल्ट से पहले चुना हो।