विश्व को योग की अब ज्यादा जरूरत-मोदी
   Date22-Jun-2020

se1_1  H x W: 0
1 करोड़ से अधिक लोगों ने सूर्य नमस्कार कर मनाया योग दिवस
नई दिल्ली द्य 21 जून (वा)
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कोरोना महामारी के परिप्रेक्ष्य में योग की बढ़ती भूमिका पर बल देते हुए रविवार को कहा कि दुनिया को पहले के मुकाबले अब योग की ज्यादा आवश्यकता महसूस की जाने लगी है, क्योंकि इससे रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है। योग दिवस पर 1 करोड़ से अधिक लोगों ने सूर्य नमस्कार कर योगाभ्यास किया।
श्री मोदी ने छठे अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर अपने सम्बोधन में कहा कि कोरोना जैसी बीमारियों को मात देने के लिए शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होना अनिवार्य होता है और जीवन में योग अपनाकर इस प्रकार की बीमारियों को हराया जा सकता है। प्रधानमंत्री ने कहा कि कोविड-19 श्वसन तंत्र पर ज्यादा हमला करता है, जिसे प्राणायाम या सांस लेने संबंधी अभ्यास से मजबूत किया जा सकता है। उन्होंने कहा- कोरोना वायरस खासतौर पर हमारे श्वसन तंत्र पर हमला करता है। हमारी श्वसन प्रणाली को मजबूत बनाने में जिससे सबसे ज्यादा मदद मिलती है, वह है प्राणायाम अर्थात सांस लेने संबंधी योगाभ्यास। सामान्य तौर पर अनुलोम-विलोम ही ज्यादा चर्चित हैं और ये काफी प्रभावी भी हैं, लेकिन प्राणायाम के अनेक प्रकार भी हैं। उन्होंने कहा कि योग एकता की शक्ति के रूप में उभरा है और यह नस्ल, रंग, लिंग, धर्म और राष्ट्रों के आधार पर भेदभाव नहीं करता है। प्रधानमंत्री ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय योग दिवस एकजुटता का दिन है, यह विश्व बंधुत्व के संदेश का दिन है। उन्होंने कहा- जो हमें जोड़े, साथ लाए, वही तो योग है। जो दूरियों को खत्म करे, वही तो योग है। उन्होंने कहा कि योग जोड़ता है और जब पूरा परिवार मिलकर योग की क्रियाएं करता है तो शरीर को नई स्फूर्ति मिलती है। उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया मे लोग योग कर रहे हैं। योग की शक्ति से ताकत मिलती है और व्यक्ति में अद्भुत शक्ति का संचार होता है। श्री मोदी ने कहा कि योग व्यक्ति में न सिर्फ शारीरिक क्षमता बढ़ाता है, बल्कि मानसिक तौर पर भी इंसान को मजबूत बनाता है। उनका कहना था कि योग से व्यक्ति में आत्मविश्वास बढ़ता है और वह किसी भी संकट का प्रभावी तरीके से समाधान करने में सक्षम होता है।
उधर देश की दिग्गज राजनीतिक हस्तियों, बॉलीवुड अभिनेताओं तथा एक करोड़ से अधिक लोगों ने सूर्य नमस्कार करके कोरोना के खिलाफ जारी जंग में योग के महत्व को रेखांकित किया। कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण इस साल अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर किसी सार्वजनिक कार्यक्रम का आयोजन नहीं हुआ है। इस बार लोगों ने सामाजिक दूरी का पालन करते हुए अपने घरों या नजदीकी पार्क में योगासन किया। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन, केंद्रीय पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और अन्य केंद्रीय मंत्रियों ने अपने-अपने आवास और पार्क में योगाभ्यास किया। और तन-मन को स्वस्थ रखने का संदेश दिया।