मुख्यमंत्री चौहान द्वारा तकनीक से संवाद और समाधान
   Date22-May-2020

df7_1  H x W: 0
भोपाल द्य 21 मई (वा)।
केन्द्र सरकार के तालाबंदी फैसले के बाद मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के सामने सामाजिक दूरी का पालन करते हुए मुश्किल वक्त में प्रदेश में गुड गवर्नेंस स्थापित करना बड़ी चुनौती थी। सुदीर्घ शासकीय अनुभव वाले मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने इस चुनौती को स्वीकारा और नेशनल इनफॉर्मेटिक सेंटर की व्यवस्था और सोशल मीडिया को अपना जरिया बनाया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने 81 वीडियो कॉन्फ्रेंस में अलग-अलग वर्गों से कुल 149 घंटों का संवाद किया। इस व्यवस्था के तहत श्री चौहान ने अपने और अधिकारियों एवं प्रदेश की जनता के बीच संदेश सेतु बनाया। संचार की इस आधुनिकतम तकनीक से शासन और आम जनता के बीच में बेहतर और निरंतर संवाद स्थापित किया जा रहा है।
मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने संचार के सभी माध्यमों को अपनाते हुए सोशल मीडिया का भी भरपूर उपयोग किया है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अपने फेसबुक एकाउंट पर 23 मार्च से आज दिनांक तक ट्विटर पर 58, फेसबुक पर 108 से अधिक वीडियो पोस्ट किए गए, 22 लाइव इवेंट के माध्यम से मध्यप्रदेश की जनता से सीधी चर्चा की गई। इसके साथ ही फेसबुक पर करीब 8 करोड़ स्पीच हुई, प्रतिदिन 13 लाख इम्प्रेशन फेसबुक हैंडल पर मिले और ट्विटर पर 23 लाख इम्प्रेशन प्राप्त हुए। इसके अलावा सीएमओ के फेसबुक अकाउंट पर 23 मार्च के बाद से अब तक मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा कोरोना संकट की रोकथाम व अन्य व्यवस्थाओं को लेकर लिए गए महत्वपूर्ण फैसलों व दिशा-निर्देशों की जानकारियों से संबंधित 125 से अधिक वीडियो पोस्ट की गई, जिनकी अन्य पोस्ट के साथ मिलाकर स्पीच करीब 4 करोड़ 65 लाख है। कोरोना महामारी के प्रकोप का सामना करने के लिए मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान अपने कुशल प्रशासनिक अनुभव और सूझबूझ के साथ सूचना एवं संचार तकनीक का पूरा इस्तेमाल कर रहे हैं। इस दिशा में एन.आई.सी. की टीम सक्रिय रूप से कार्य कर रही है। एन.आई.सी. के सीनियर टेक्नीकल डायरेक्टर मयंक नागर ने बताया कि एन.आई.सी. द्वारा संभाग एवं जिलों के अधिकारियों की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की व्यवस्थाओं को सुनिश्चित किया जाकर सामाजिक दूरी के साथ त्वरित संवाद सुनिश्चित कराया गया।