प्रधानमंत्री वय वंदना योजना को मार्च 2023 तक बढ़ाया एमएसएमई के लिए 3 लाख करोड़ का फंड मंजूर
   Date21-May-2020

ER2_1  H x W: 0
मोदी कैबिनेट के फैसले
एमएसएमई के लिए 3 लाख करोड़ का फंड मंजूर
नई दिल्ली द्य प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में आज हुई कैबिनेट की बैठक में कई अहम फैसले लिए गए। सीनियर सिटीजन के लिए इन्कम सिक्योरिटी की प्रधानमंत्री वय वंदना योजना को तीन साल बढ़ाकर मार्च 2023 तक करने की मंजूरी दे दी गई। यह स्कीम इस साल 31 मार्च को खत्म हो गई थी। छोटे उद्योगों (एमएसएमई) के लिए 3 लाख करोड़ रुपए का एक्स्ट्रा फंड भी मंजूर कर दिया गया। कोविड-19 रिलीफ पैकेज के में सरकार ने पिछले दिनों इसकी घोषणा की थी।
क्या है प्रधानमंत्री वय वंदना योजना - ये स्कीम 60 साल और ज्यादा उम्र के लोगों के लिए है। इसके तहत सीनियर सिटीजन 10 साल के लिए निवेश कर मासिक या सालाना पेंशन का विकल्प ले सकते हैं। उन्हें एक तय रिटर्न की गारंटी मिलती है। एक व्यक्ति अधिकतम 15 लाख रुपए निवेश कर सकता है। कैबिनेट ने इस योजना में निवेश पर 2020-21 के लिए 7.40 प्र. रिटर्न की मंजूरी दी है। इसके बाद हर साल ब्याज दर तय होगी।
कैबिनेट के अन्य फैसले - ठ्ठ कोल, इग्नाइट खदानों की नीलामी के नए नियमों, नए ब्लॉक्स की मंजूरी दी गई। सरकार ने पिछले दिनों कोल माइनिंग को रेवेन्यू शेयर बेसिस पर प्राइवेट सेक्टर के लिए खोलने का ऐलान किया था।
ठ्ठ नॉन बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनियों (एनबीएफसी) और हाउसिंग फाइनेंस कंपनियों को नकदी बढ़ाने के लिए स्पेशल लिक्विडिटी स्कीम को मंजूरी।
ठ्ठ माइक्रो फूड प्रोसेसिंग एंटरप्राइजेज के लिए 10 हजार करोड़ रुपए की योजना मंजूर।
ठ्ठ 8 करोड़ प्रवासियों के लिए अगले दो महीने तक राशन की मंजूरी।
ठ्ठ मछुआरों के फायदे की प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना मंजूर।
ठ्ठ जम्मू-कश्मीर में प्रशासनिक सेवाओं में नियुक्ति के लिए नए नियमों के तहत जारी मूल निवास प्रमाण-पत्र की नियमावली से संबंधित प्रशासनिक आदेश जारी किए जाने को मंजूरी।