चौथा चरण : तालाबंदी 31 मई तक बढ़ाई
   Date18-May-2020

ws1_1  H x W: 0
आज से तालाबंदी -4 : नई गाइडलाइन- बंद रहेंगे हवाई, मेट्रो और रेल यात्रा तथा स्कूल-कॉलेज
नई दिल्ली द्य 17 मई (वा)
कोरोना वायरस (कोविड-19) से निपटने के लिए लागू तालाबंदी की अवधि 31 मई तक बढ़ा दी गई है। राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए) ने रविवार (17 मई) शाम को यह जानकारी दी। एनडीएमए ने कहा कि कोविड-19 को फैलने से रोकने के लिए तालाबंदी की अवधि को बढ़ाया गया है और नए दिशा-निर्देश जारी किए जाएंगे। राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए) की तरफ भारत सरकार/राज्य सरकार और राज्य अथॉरिटीज को तालाबंदी बढ़ाने का निर्देश देते हुए कहा गया है कि कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए देश में तालाबंदी को बढ़ाने की जरूरत है।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गत मंगलवार (12 मई) को राष्ट्र के नाम संबोधन में ही स्पष्ट कर दिया था कि देश में 18 तारीख से तालाबंदी का चौथा चरण शुरू हो जाएगा और यह पूरी तरह नए रंग-रूप वाला होगा।
तालाबंदी का पहला चरण -पहले चरण में केवल आवश्यक वस्तुओं को छोड़कर लगभग ज्यादातर गतिविधियों पर पूरी तरह प्रतिबंध था। सार्वजनिक परिवहन भी पूरी तरह बंद कर दिया गया था।
तालाबंदी का दूसरा चरण -दूसरे चरण में कुछ ढील देते हुए जरूरी सामान की आपूर्ति के साथ-साथ गैर जरूरी सामान की आपूर्ति को भी कुछ शर्तों के साथ अनुमति दी गई थी। इसी के अनुरूप ट्रकों आदि को एक से दूसरे राज्य में जाने की ढील भी दी गई थी।
तालाबंदी का तीसरा चरण-तीसरे चरण में पूरे देश को संक्रमण की स्थिति के आधार पर तीन चरणों रेड, ऑरेंज और ग्रीन जोन में बांटा गया था। रेड जोन को भी कंटेनमेंट और गैर कंटेनमेंट क्षेत्रों में बांटा गया था।
भारत ने नेपाल को सौंपे
आरटी-पीसीआर परीक्षण किट
काठमांडू द्य भारत ने नेपाल को रविवार को पैथोडिटेक्ट कोविड-19 रियल-टाइम रिवर्स ट्रांसक्रिप्शन-पोलीमरेज़ चेन रिएक्शन (आरटी-पीसीआर) टेस्ट किट सौंपे, जिनकी मदद से नेपाल के स्वास्थ्यकर्मी 30,000 लोगों की कोरोना जांच कर सकेंगे। नेपाल में भारत के राजदूत विनय मोहन क्वात्रा ने भारत सरकार की ओर से ये किट काठमांडू में नेपाली स्वास्थ्य एवं जनसंख्या मंत्री भानुभक्त ढकाल को सौंपे।
पैथोडिटेक्ट कोविड-19 आरटी पीसीआर किट पुणे स्थित मायलैब कंपनी ने बनाये हैं। श्री क्वात्रा ने 22 अप्रैल को नेपाल सरकार को 23 टन दवाएं भी सौंपी थी। नेपाल में भारतीय दूतावास ने एक बयान में कहा कि नेपाल को दवाएं और टेस्ट किट प्रदान करना दोनों देशों के नेताओं और लोगों के बीच कोरोना महामारी की साझा चुनौती से निपटने की तैयारी, कार्रवाई और लड़ाई में सहयोग को प्रदर्शित करता है। यह पहल 15 मार्च को सार्क नेताओं के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की वीडियो कॉन्फ्रेंस से शुरू हुई है।