शेयर बाजार ने बढ़त के साथ वित्त वर्ष को कहा अलविदा
   Date01-Apr-2020

er11_1  H x W:
मुंबई, ठ्ठ 31 मार्च (वा)
विदेशी बाजारों से मिले सकारात्मक संकेतों के बीच घरेलू शेयर बाजार ने मंगलवार को साढ़े तीन प्रतिशत से ज्यादा की बढ़त के साथ वित्त वर्ष 2019-20 को अलविदा कहा।
बीएसई का सेंसेक्स आज 1,028.17 अंक यानी 3.62 प्रतिशत की तेजी के साथ 29,468.49 अंक पर बंद हुआ। कोरोना वायरस 'कोविड-19Ó का संक्रमण दुनिया भर में फैलने से पिछले दो महीने से जारी दबाव के कारण पूरे वित्त वर्ष के दौरान इसमें 9,204.42 अंक (23.80 प्रतिशत) की गिरावट रही। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी आज 316.65 अंक यानी 3.82 फीसदी की बढ़त में 8,597.75 अंक पर रहा और इस प्रकार पूरे वित्त वर्ष के दौरान यह 3026.15 अंक (26.03 प्रतिशत) लुढ़क गया। मझौली और छोटी कंपनियों में अपेक्षाकृत कम तेजी रही।
बीएसई का मिडकैप 2.49 प्रतिशत की तेजी के साथ 10,569.93 अंक पर और स्मॉलकैप 2.98 प्रतिशत की बढ़त में 9,608.92 अंक पर बंद हुआ। इसके बावजूद वित्त वर्ष के दौरान मिडकैप 4,909.69 अंक (31.71 प्रतिशत) और स्मॉलकैप 5,418.44 अंक (36.06 प्रतिशत) की गिरावट में रहा। अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम बढऩे से विदेशी शेयर बाजारों के साथ ही घरेलू स्तर पर भी मजबूती दर्ज की गयी। बीएसई के तेल एवं गैस समूह में पौने नौ फीसदी और ऊर्जा समूह में करीब आठ फीसदी की तेजी रही। एफएमसीजी, धातु, बुनियादी वस्तुयें, यूटिलिटीज और स्वास्थ्य समूहों के सूचकांक भी तीन से छह फीसदी तक चढ़े। सेंसेक्स में आईटीसी, रिलायंस इंडस्ट्रीज और ओएनजीसी के साथ बैंकिंग तथा वित्तीय क्षेत्र की कंपनियों ने भी बढ़त में योगदान दिया। सेंसेक्स 854.62 अंक की मजबूती के साथ 854.62 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान इसमें काफी उतार-चढ़ाव देखा गया। इसका दिवस का निचला स्तर 28,667.36 अंक और निचला स्तर 29,770.88 अंक रहा। अंत में यह गत दिवस की तुलना में 3.62 फीसदी ऊपर 29,468.49 अंक पर बंद हुआ। बीएसई में कुल 2,452 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ। इनमें 1,524 के शेयर तेजी में और 771 के गिरावट में रहे जबकि 157 कंपनियों के शेयर दिन भर के उतार-चढ़ाव के बाद अंतत: अपरिवर्तित रहे।निफ्टी 248.25 अंक की तेजी के साथ 8,529.35 अंक पर खुला। इसका दिवस का निचला स्तर 8,358 अंक और उच्चतम स्तर 8,678.30 अंक रहा। अंत में यह 3.82 अंक की तेजी के साथ 8,597.75 अंक पर बंद हुआ। निफ्टी की 50 में से 40 कंपनियों के शेयरों में लिवाली और शेष 10 में बिकवाली का जोर रहा।