जमीन से आसमान तक रहेगा सन्नाटा
   Date22-Mar-2020

cv2_1  H x W: 0
जनता कफ्र्य : व्यापारी , उद्योग , सामाजिक संगठन, राज्य सरकारें व स्थानीय प्रशासन के साथ जनता भी करेगी सहयोग
नई दिल्ली द्य 21 मार्च (वा)
दुनियाभर में दहशत का कारण बने कोविड-19 कोरोना विषाणु से निपटने के लिए रविवार को देश में जमीन से आसमान तक जनता कफ्र्यू रहेगा, जिसमें बाजारों, सड़कों, रेल लाइनों और हवाई मार्गों पर सन्नाटा पसरा होगा और इस जानलेवा वायरस को अलग-थलग करने की राष्ट्रव्यापी कोशिश की जाएगी।
ठ्ठप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना विषाणु से निपटने के लिए कल आम जनता से सुबह सात बजे लेकर रात नौ बजे तक अपने-अपने घरों में रहने की अपील की है, जिसमें व्यापारी संगठन, उद्योग संगठन, सामाजिक संगठन, राज्य सरकारें, स्थानीय प्रशासन के साथ-साथ जनता भी सहयोग कर रही है। सभी सार्वजनिक समारोह और प्रतियोगी परीक्षाएं टाली गई हैं।
ठ्ठदेश के अन्य हिस्सों में इस अवधि में मेट्रो रेल सेवाएं बंद रहेंगी और सार्वजनिक परिवहन सेवा सीमित रहेगी। जनता कफ्र्यू की अवधि 14 घंटे की होगी और वैज्ञानिकों के अनुसार आपसी संपर्क से फैलने वाला यह विषाणु इतनी अवधि में निष्क्रिय हो जाता है। श्री मोदी ने गुरुवार को राष्ट्र के नाम अपने संदेश में कोरोना का मुकाबला करने के लिए देशवासियों को किसी भी तरह की भीड़भाड़ से बचने का आह्वान किया था और इस रविवार को अपने घर में बंद रहकर 'जनता कफ्र्यूÓ लगाने की अपील की थी। इसके साथ ही उन्होंने लोगों से दहशत में न आने तथा किसी भी तरह की अफवाह न फैलाने और हड़बड़ी में आवश्यक वस्तुओं की खरीददारी ना करने की भी सलाह दी थी।
ठ्ठउन्होंने लोगों से इस बात का संकल्प व्यक्त करने की अपील की थी और कहा था- हम भी बचें, देश को बचायें और जग को बचायें। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इस महामारी से निपटने में सहयोग देने वाले सभी लोगों को 22 तारीख शाम पांच बजे अपने घर से ताली या थाली बजाकर उनके प्रति कृतज्ञता अर्पित करें।
सोशल मीडिया पर लोगों ने प्रधानमंत्री के इस आह्वान का स्वागत किया है और इस मुहिम में एक दूसरे से सहयोग देने की अपील की है।
देशभर में रहने वाले इस जनता कफ्र्यू में 4000 से अधिक रेलगाडिय़ां रद्द की गई हैं और अन्य सार्वजनिक वाहन की संख्या आधी की गई है। दिल्ली में मेट्रो रेल सेवाएं बंद रहेंगी और दिल्ली परिवहन व्यवस्था में बसों की संख्या आधी रहेगी। मॉल, बाजार और औद्योगिकी क्षेत्रों में बंदी होगी। आटो रिक्शा एवं टैक्सी संगठनों ने भी परिचालन बंद करने का फैसला किया है। औद्योगिकी क्षेत्र और बाजार बंद होने से निजी मालवहन वाहन भी नहीं चलेंगे। हालांकि आवश्यक सेवाएं जैसे अस्पताल, दूध, सब्जी और अन्य वस्तुओं की आपूर्ति जारी रहेगी। विश्व के 168 देशों में फैल चुके कोरोना वायरस 'कोविड 19Ó से इस खतरनाक वायरस से 11,248 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि करीब 2,69,482 लोग इससे संक्रमित हुए हैं। भारत में भी कोरोना वायरस का संक्रमण फैलता जा रहा है और अब तक इससे संक्रमितों की संख्या बढ़कर 324 है। देश में तकरीबन 53 हजार लोग निगरानी में हैं।