स्कूलों में देशभक्ति के पाठ पढ़ाए जाएंगे, भोजपुुरी को 8वीं अनुसूची में शामिल किया जाएगा
   Date05-Feb-2020

vf8_1  H x W: 0
नई दिल्ली ठ्ठ 4 फरवरी (वा)
दिल्ली के मुख्यमंत्री एवं आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में प्रदूषण पर नियंत्रण करने, स्वच्छ पेयजल, स्कूलों में देशभक्ति के कार्यक्रम शुरू करने, भोजपुरी भाषा को संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल करने और राजधानी को विश्वस्तरीय शहर बनाने का वादा किया है ।
इसके साथ ही उन्होंने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को दिल्ली में मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित करने और सीधे उनके साथ बहस करने की चुनौती भी दी है।
श्री केजरीवाल ने मंगलवार को यहां पार्टी का घोषणा पत्र जारी करते हुए कहा कि जनतंत्र में जरूरी है बहस। जनता को जानना चाहिए कि कौन सी पार्टी क्या वादे कर रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा अपना मुख्यमंत्री का प्रत्याशी तय करें ताकि वह उनसे ठीक तरह से बहस कर सकें। बहस में दो एंकर होने चाहिए। यह जनता के सामने होनी चाहिए। अगर जनता को यह नहीं पता कि उनका मुख्यमंत्री का चेहरा कौन है तो वह वोट किसे देंगे। जनतंत्र में मुख्यमंत्री जनता तय करती है। गृह मंत्री अमित शाह इसका फैसला नहीं करेंगे। अमित शाह कह रहे हैं कि दिल्ली की जनता उन्हें ब्लैंक चेक दे दे बाद में वह मुख्यमंत्री का फैसला करेंगे।
उन्होंने कहा कि दिल्लीवासियों को वह कह चुके हैं कि आपको दिया एक-एक वोट केजरीवाल के पास जाएगा लेकिन भाजपा के पास चेहरा नहीं है तो उनको दिया वोट किसके पास जाएगा। असल में उनका वोट गड्ढे में जाएगा। श्री केजरीवाल ने कहा कि वह भाजपा को कल दोपहर एक बजे तक का समय देते हैं, अगर भाजपा एक बजे तक मुख्यमंत्री उम्मीदवार घोषित कर देती हैं तो वह बहस के लिए तैयार हैं।
श्री केजरीवाल ने कहा कि पिछले पांच साल में हमारी सरकार ने दिल्ली की जनता को राहत पहुंचाने वाले काम किये हैं और बुनियादी मुद्दों को हल किया है। अगले पांच साल में दिल्ली को विश्वस्तरीय आधुनिक शहर बनाया जाएगा जिस पर देशवासियों का गर्व होगा। उन्होंने कहा कि आप ने घोषणापत्र में साफ-सुथरी दिल्ली और स्वच्छ यमुना की गारंटी के साथ से समाज के सभी तबकों की बात की है जिसे पूरा किया जाएगा।