सर्द हवाओं से कांपे हाड़
   Date29-Dec-2020

ws6_1  H x W: 0
पहाड़ों पर बर्फबारी से शीतलहर का दिखा खासा असर
भोपाल द्य 28 दिसम्बर (वा)
उत्तर भारत के हिमाचल, उत्तराखंड और जम्मू-कश्मीर में हो रही बर्फबारी के कारण मध्यप्रदेश में कल से शीतलहर ने असर दिखाना शरु कर दिया है। आने वाले समय में इसमें तापमान सामान्य से 4 डिग्री तक नीचे आ जाएगा। उधर सोमवार सुबह से ही सर्द हवाओं के कारण पश्चिमी मध्यप्रदेश के भोपाल समेत अन्य का इलाकों में ठंड जोर पकडऩे लगी है। भोपाल के साथ ही धार, गुना, इंदौर, खंडवा, खरगोन, रतलाम और शाजापुर में रात का पारा 3 डिग्री से भी ज्यादा लुढ़क गया, जबकि पूर्वी मध्यप्रदेश के रीवा, सागर और सिवनी में रात का पारा सामान्य से नीचे आया, जबकि शेष पूर्वी मध्यप्रदेश छिंदवाड़ा, दमोह, जबलपुर, खजुराहो, मंडला, नरसिंहगढ़, नौगांव, सतना, सीधी, टीकमगढ़ और उमरिया में रात का पारा 4 डिग्री से भी ज्यादा उछला है।
मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया कि नार्थ से स्ट्रांग वेव लगातार आ रही है। इसके कारण रविवार को प्रदेशभर में रात का तापमान सामान्य से नीचे आया है। यह स्ट्रांग वेव अभी लगातार आ रही है। ऐसे में 29 से प्रदेश में शीतलहर शुरू हो जाएगी। पश्चिमी मध्यप्रदेश में इसका असर कल से ही देखा जाएगा, लेकिन पूर्वी मध्यप्रदेश में यह 30 और 31 को प्रभाव डालेगी। शीतलहर के कारण 31 दिसम्बर की रात सर्द रहेगी। इसका असर 2 से 3 जनवरी तक रहेगा।
लगातार कोल्ड वेव आने के कारण कई जगह तापमान 4 डिग्री से ज्यादा गिर सकता है। अगर तापमान 4 डिग्री से ज्यादा गिरता है, तो उसे कोल्ड वेव कहते हैं, जबकि पारा 6.5 डिग्री से ज्यादा नीचे आता है, तो उसे सीवियर कोल्ड वेव कहते हैं। अभी की संभावना कोल्ड वेव की बन रही है।