भाजपा शासन में बंदूकें छोड़ मुख्यधारा में लौटे विद्रोही
   Date28-Dec-2020

az8_1  H x W: 0
इम्फाल द्य 27 दिसम्बर (वा)
केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने रविवार को कहा कि पूर्वोत्तर में भाजपा की सरकार बनने के बाद अधिकांश विद्रोहियों ने हथियार डाल दिए और अब जो कुछ बचे हुए हैं, वे भी जल्द ही मुख्यधारा में शामिल हो जाएंगे।
श्री शाह ने यहां हाप्ता कांगजेइबुंग में एक सार्वजनिक स्वागत समारोह के दौरान कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत दुनिया का नंबर एक देश बनने का इच्छुक है। उन्होंने कहा कि विश्व के देशों में शीर्ष पर पहुंचने की भारत की यात्रा के दौरान राष्ट्र के किसी भी हिस्से, विशेष रूप से पूर्वोत्तर को किसी भी सूरत में पीछे नहीं छोड़ा जाएगा। उन्होंने कहा कि जब कांग्रेस पूर्वोत्तर के राज्यों में शासन कर रही थी, तब पूरे देश में विद्रोहियों, बंद और नाकेबंदी आदि में वृद्धि दर्ज की गई। उन्होंने कहा कि पूर्वोत्तर में भाजपा की सरकारें बनने के बाद अधिकांश विद्रोहियों ने अपनी बंदूकें छोड़ दी और मुख्यधारा में लौट आए। शेष बचे समूह भी मुख्यधारा में लौट आएंगे।
गृहमंत्री ने बताया कि ब्रू, रियांग, बोडो और अन्य समुदायों से संबंधित समस्याओं का निपटारा किया गया है और अधिकांश भूमिगत संगठनों ने अपने हथियार डाल दिए हैं। उन्होंने कहा कि सरकार क्षेत्र के लोगों और संगठनों की मांगों पर गंभीरता से विचार करेगी। उन्होंने मणिपुर सरकार से एक फॉरेंसिक संस्थान के साथ एक विज्ञान महाविद्यालय को संबद्ध करने की अपील की ताकि क्षेत्र के लोग फॉरेंसिक विज्ञान के पाठ्यक्रमों का अध्ययन कर सकें।