कर का बोझ कम किया केंद्र ने- वित्तमंत्री
   Date07-Nov-2020

rf3_1  H x W: 0
इंदौर ठ्ठ 6 नवंबर (वा)
केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि केंद्र सरकार ने व्यक्तिगत करदाता के लिए करों की वैकल्पिक दरों की शुरुआत करके अनुपालन के साथ-साथ कर के बोझ को कम करने के लिए कई कदम उठाए हैं।
श्रीमती सीतारमण ने आज टैक्स प्रैक्टिशनर्स एसोसिएशन इंदौर द्वारा आयोजित 'नेशनल टैक्स कॉन्फ्रेंसÓ को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संबोधित किया। उन्होंने कहा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हमेशा कर कानूनों के सरलीकरण और ईमानदार करदाताओं के सम्मान में विश्वास किया है। उन्होंने कहा कि व्यवसायियों और उद्योगपतियों द्वारा टैक्स कानूनों का समय पर और उचित अनुपालन सुनिश्चित करने में कर पेशेवर (टैक्स प्रोफेशनल्स) महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। ़श्रीमती सीतारमण ने कहा कि भारत में बहुत ही आकर्षक कॉर्पोरेट कराधान प्रणाली है, जिसमें की कंपनी द्वारा मुनाफे के वितरण पर लगाए गए डिविडेंड डिस्ट्रीब्यूशन टैक्स का उन्मूलन शामिल है। 'डिजिटल युग में टैक्स कानूनÓ विषय पर कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि फेसलेस आकलन और फेसलेस अपील के माध्यम से भौगोलिक
अधिकार क्षेत्र के बिना आयकर कार्यवाही आयोजित की जाएगी। जो कि केवल डिजिटल और तकनीकी के माध्यम से ही संभव हो सकी है।केन्द्रीय वित्त मंत्री ने भारत में टैक्स कानून में किए गए सुधारों के बारे में भी बात की। उन्होंने आयकर के लिए किए गए विभिन्न योजनाओं पर भी चर्चा की, जिसमें 'फेसलेस असेसमेंटÓ एवम 'फेसलेस अपील्सÓ स्कीम और 'विवाद से विश्वासÓ योजना शामिल हैं। उन्होंने आयकर कानून और जीएसटी में व्यापार को आसान बनाने और बढ़ावा देने के लिए कर कानूनों में और बदलाव लाने की बात की।