संप्रभुता की रक्षा के लिए देश कोई भी बलिदान देने को तैयार
   Date06-Nov-2020

se5_1  H x W: 0
नई दिल्ली ठ्ठ 5 नवंबर (वा)
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने चीन के साथ वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चल रही तनातनी के बीच आज स्पष्ट रूप से कहा कि भारत शांति के लिए प्रतिबद्ध है, लेकिन साथ ही वह अपनी संप्रभुता की रक्षा के लिए भी पूरी तरह से तैयार है, चाहे इसके लिए कोई भी बलिदान देना पड़े।
राष्ट्रीय रक्षा कॉलेज की हीरक जयंती पर आयोजित वेबिनार में देश और विदेश के जाने-माने सामरिक, सुरक्षा, विदेश नीति विशेषज्ञों और सैन्य तथा प्रशासनिक अधिकारियों के समक्ष मुख्य भाषण देते हुए श्री सिंह ने पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ चल रहे सैन्य गतिरोध के परिप्रेक्ष्य में कहा कि पिछले कुछ समय से भारत को अपनी सीमाओं पर चुनौतियों का सामना करना पड़ा है। उन्होंने कहा- भारत शांतिप्रिय देश है। हमारा मानना है कि मतभेदों को विवादों में नहीं बदलने देना चाहिए। हम बातचीत के जरिए मतभेदों के शांतिपूर्ण समाधान को महत्व देते हैं, लेकिन एकतरफा कार्रवाई और हमले की स्थिति में वह अपनी संप्रभुता की रक्षा के लिए तैयार है, चाहे इसके लिए कोई भी बलिदान देना पड़े।