बिरसा मुंडा ने सम्पूर्ण जीवन समाज व राष्ट्र को समर्पित किया
   Date23-Nov-2020

dc3_1  H x W: 0
खंडवा ठ्ठ स्वदेश समाचार
ग्राम सिंगोट में भाम नदी के तट पर श्री हनुमान के रूप में बीरसेश्वर हनुमान की प्राण-प्रतिष्ठा हुई। कार्यक्रम में वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में सामाजिक समरसता का एक अद्भुत संगम प्रस्तुत हुआ।
मंदिर लोकार्पण के कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रांत प्रचारक बलिरामजी पटेल ने कहा कि गत 15 नवंबर को भगवान बिरसा मुंडा का जन्मदिवस था। भगवान बिरसा मुंडा ने अपना सम्पूर्ण जीवन समाज और राष्ट्र को समर्पित किया है और आज उन्हीं के नाम से बीरसेश्वर हनुमान की स्थापना हो रही है, जिससे पूरा क्षेत्र भगवान बिरसा के जीवन से प्रेरित होकर सामाजिक समरसता का उदाहरण प्रस्तुत करेगा।
उन्होंने कहा अपनी सामाजिक व्यवस्था के साथ सम्पूर्ण हिन्दू समाज एक साथ समरस था। ओंकारेश्वर से पधारे संत श्री मंगलदास त्यागी महाराज के मार्गदर्शन में सिंगोट ग्राम में रहने वाली 33 उपजातियों के जाति प्रमुखों को स्वामीजी ने आशीर्वाद स्वरूप पीपल और नीम के पौधे भेंट कर और उनकी उपस्थिति में 101 दीपक से महाआरती के साथ श्री बीरसेश्वर हनुमान की प्राण-प्रतिष्ठा हुई। मंदिर में पुजारी के रूप में जनजातीय समाज के गंगाराम डूडवे और सहायक के रूप में सुखलाल खरते के नाम की घोषणा के साथ यह मंदिर जनजातीय समाज को समर्पित किया गया। मंदिर संरक्षक नर्मदाशंकर पटेल सिंगोट को नियुक्त किया गया।