अस्ताचलगामी सूर्य को दिया अघ्र्य
   Date21-Nov-2020

az5_1  H x W: 0
शुक्रवार द्य बिहार में लोकआस्था का महापर्व छठ के अवसर पर आज व्रतधारियों ने अस्ताचलगामी सूर्य को नदी और तालाब में खड़े होकर प्रथम अघ्र्य अर्पित किया। बिहार समेत पूरे देश में बुधवार को छठ महापर्व की शुरुआत हो गई है। गंगा नदी में हजारों महिला और पुरुष व्रतधारियों ने डूबते हुए सूर्य को अघ्र्य अर्पित किया। इस अवसर पर लाखों लोगों ने पवित्र गंगा नदी में स्नान भी किया। आज दोपहर बाद से ही गंगा नदी की ओर जाने वाले सभी मार्ग छठ व्रत एवं सूर्य आराधना के भक्तिपूर्ण एवं कर्णप्रिय गीतों से गुंजायमान थे। केलवा जे फरेला घवद से, ओह पर सुगा मेराय, आदित लिहो मोर अरगिया., दरस देखाव ए दीनानाथ., उगी है सुरुजदेव., हे छठी मइया तोहर महिमा अपार., कांच ही बास के बहंगिया बहंगी लचकत जाय ...,गीत सुनने को मिल रहे हैं। मध्यप्रदेश में भी छठ महापर्व उत्साह के साथ इन्दौर, भोपाल, जबलपुर के साथ ही अन्य शहरों में मनाया गया। लोगों ने नर्मदा व अन्य नदियों में स्नान कर पर्व की शुरुआत की।