विचारधारा के विस्तार के लिए प्रशिक्षित होंगे कार्यकर्ता- विष्णुदत्त
   Date12-Nov-2020

qa5_1  H x W: 0
भोपाल ठ्ठ 11 नवंबर (वा)
भाजपा के मध्यप्रदेश इकाई के अध्यक्ष एवं सांसद विष्णुदत्त शर्मा ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ता आधारित दल है, जो विशेष कार्यपद्धति पर कार्य करती है। पार्टी की विचारधारा के विस्तार के लिए कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित किया जाएगा।
श्री शर्मा ने आज यहां पार्टी के प्रदेश कार्यालय में प्रशिक्षण टोली की बैठक के पश्चात मीडिया से चर्चा करते हुए बताया कि कार्यकर्ताओं के प्रशिक्षण के लिए केन्द्रीय नेतृत्व के निर्देशानुसार 25 नवंबर से 15 दिसंबर तक प्रदेश के 1059 मंडलों में प्रशिक्षण शिविर आयोजित किए जाएंगे। इन शिविरों में पार्टी कार्यकर्ता पार्टी की रीति-नीति, चुनाव प्रबंधन, मीडिया, सोशल मीडिया एवं विभिन्न मुद्दों पर प्रशिक्षण प्राप्त करेंगे। यहां आयोजित बैठक में श्री शर्मा ने कहा कि भाजपा एक राजनैतिक दल है, जो अपने सामाजिक दायित्वों का निर्वहन करता है। कोरोना काल के संकट में पूरी दुनिया ने देखा है कि पार्टी कार्यकर्ताओं ने दो गज की दूरी का पालन करते हुए अपना सामाजिक दायित्व निभाया। प्रदेश के 1059 संगठनात्मक मंडलों में प्रशिक्षण शिविरों की तैयारियों को लेकर बिन्दुवार चर्चा की गई।
उन्होंने कहा कि बाबा साहेब आंबेडकर ने समाज को एक सूत्र में पिराने का काम किया, उनके विचारों को समाज में किस तरह ले जाया जाए, यह कार्यकर्ता प्रशिक्षण शिविर में सीखेंगे। उन्होंने कहा कि प्रशिक्षण शिविरों में अलग अलग विषयों पर पार्टी कार्यकर्ताओं का प्रशिक्षण होगा। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि यदि पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ अच्छे विपक्ष की भूमिका निभाते हैं, तो उनका स्वागत है। यदि वे एक अच्छे विपक्ष के रूप में प्रदेश के विकास के लिए मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के साथ सहयोग करते हैं, तो इससे लोकतंत्र मजबूत होगा।
बूथ लेवल पर कार्यकर्ताओं की मेहनत भाजपा की विशेषता
श्री शर्मा ने कहा कि उपचुनाव में भाजपा को मिली जीत से प्रदेश सरकार को ताकत के साथ स्थायित्व मिला है। बूथ लेवल पर कार्यकर्ताओं ने जो मेहनत की यही भाजपा के संगठन की विशेषता है। हमारा संगठन तंत्र और अधिक मजबूत हो, संगठन कार्य का विस्तार हो और वैचारिक तौर पर कार्यकर्ता और अधिक मजबूत हों, इसके लिए पार्टी कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण दिया जाएगा। प्रशिक्षण के दौरान कार्यकर्ता भाजपा के गठन, उसकी पृष्ठिभूमि एवं उसके उद्देश्य को जानेंगे।