भाजपा राज में मातृशक्ति को सम्मान व सुरक्षा मिली
   Date12-Nov-2020

qa1_1  H x W: 0
नई दिल्ली ठ्ठ 11 नवंबर (वा)
कोरोना महामारी के बीच हुए बिहार विधानसभा चुनाव और विभिन्न राज्यों में उपचुनावों में भाजपा ने शानदार सफलता हासिल की है। इन सफलताओं का आभार मानने व जश्न मनाने के लिए बुधवार की शाम भाजपा मुख्यालय में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया।
प्रधानमंत्री मोदी ने कार्यकर्ताओं से कहा कि बिहार में हुए विधानसभा चुनाव और विभिन्न राज्यों में हुए उपचुनावों के परिणाम ने बता दिया है कि मेहनत करेंगे तो जनता आशीर्वाद देगी। उन्होंने परिवारवादी पार्टियों को लोकतंत्र के लिए सबसे बड़ा खतरा बताते हुए कहा कि देश की जनता का भाजपा पर विश्वास बढ़ता जा रहा है। देश की नारी शक्ति को प्रधानमंत्री ने भाजपा का सायलेंट वोटर बताया। साथ ही बिहार में नीतीश के नेतृत्व पर भी उन्होंने मुहर लगाई। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भाजपा के
पास सायलेंट वोटर का ऐसा वर्ग है जो उसे बार-बार वोट दे रहा है, निरंतर वोट दे रहा है। ये सायलेंट वोट देश की माताओं बहनों के हैं, नारी शक्ति के हैं। ग्रामीण इलाकों से शहरों तक महिला वोटर ही भाजपा के सायलेंट वोटर का सबसे बड़ा समूह बन गया है। ये भाजपाई हैं, जिसके शासन में महिलाओं को सम्मान भी मिलता है और सुरक्षा भी मिलती है। लोकतंत्र में हिंसा का स्थान नहीं- बंगाल और केरल में भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमले की घटनाओं को लेकर पीएम ने कहा कि जो लोग हमें सीधे चुनौती नहीं दे पा रहे हैं वो हमारे कार्यकर्ताओं के साथ हिंसा रहे हैं, उनकी हत्या कर रहे हैं। लेकिन लोकतंत्र में हिंसा का स्थान नहीं है, कार्यकर्ताओं को मारना ठीक नहीं है, मौत का खेल खेलकर कोई मत नहीं पा सकता है। उन्होंने कहा कि हमारे इरादों, प्रयासों पर कोई सवाल नहीं उठा सकता है। मैं जनता के सपनों को पूरा करने में कोई कमी नहीं रहने दूंगा। मैं देश के सभी मतदाताओं को और भाजपा को धन्यवाद देता हूं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गृहमंत्री अमित शाह आदि नेता पार्टी मुख्यालय में मौजूद रहे।
दुनिया के लोगों की चिंता की-नड्डा- भाजपा के अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा, मैं लाखों करोड़ों कार्यकर्ताओं की ओर से प्रधानमंत्रीजी का अभिनंदन करता हूं। उन्होंने जो अथक प्रयास देश और समाज को आगे बढऩे के लिए किया है, वह सच में देश को एक नई दृष्टि और दिशा देने वाला है। कल सम्पन्न हुआ चुनाव केवल बिहार के चुनाव नहीं थे, ये लद्दाख से लेकर तेलंगाना और कर्नाटक, गुजरात और मध्यप्रदेश से लेकर मणिपुर तक के उपचुनाव भी थे।