50 करोड़ मॉरिशस से आए, 4 कार्यकर्ता 14 दिन की हिरासत में
   Date08-Oct-2020

we3_1  H x W: 0
हाथरस के बहाने दंगों की साजिश : पीएफआई को 100 करोड़ का फंड मिला था
लखनऊ द्य 7 अक्टूबर (वा)
हाथरस में गैंगरेप की कथित घटना के बहाने दंगे फैलाने की साजिश को लेकर हर रोज नए खुलासे हो रहे हैं। नई जानकारी चरमपंथी संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) को लेकर सामने आई है। सूत्रों के मुताबिक पीएफआई को हाथरस घटना के बहाने उत्तरप्रदेश में जातीय दंगे फैलाने के लिए 100 करोड़ रुपए की फंडिंग मिली थी, इसमें से 50 करोड़ मॉरिशस से आए थे। पीएफआई वही संगठन है जिसका नाम सीएए के विरोध में दिल्ली में हुए दंगों में भी आया था। दिल्ली से हाथरस जा रहे 4 कार्यकर्ता मंगलवार रात मथुरा में पकड़े गए थे। इनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है। इनके पास 6 स्मार्टफोन, एक लैपटॉप, जस्टिस फॉर हाथरस विक्टिम और ्रद्व ढ्ढ ठ्ठशह्ल ढ्ढठ्ठस्रद्बड्ड'ह्य स्रड्डह्वद्दद्धह्लद्गह्म्, द्वड्डस्रद्ग 2द्बह्लद्ध ष्टड्डह्म्ह्म्स्र लिखे हुए पम्पलेट मिले थे। स्थानीय कोर्ट ने चारों आरोपियों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। शुरुआती जांच में सामने आया है कि दंगे फैलाने और फिर बचकर भागने के टिप्स बताने वाली वेबसाइट द्भह्वह्यह्लद्बष्द्ग द्घशह्म् द्धड्डह्लद्धह्म्ड्डह्य से भी चारों आरोपियों का कनेक्शन है। यह भी पता चला है कि कुछ लोग ष्ड्डह्म्ह्म्स्र.ष्श वेबसाइट के जरिए फंड जुटाने की कोशिश कर रहे हैं। विदेशों से मिलने वाली फंडिंग का इस्तेमाल दंगे भड़काने में किया जाता है।