कराची में इमरान के खिलाफ सड़क पर उतरे लोग , इस्तीफे की मांग
   Date20-Oct-2020

dc8_1  H x W: 0
इस्लामाबाद द्य 19 अक्टूबर (वा)
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के इस्तीफे की मांग को लेकर कराची की सड़कों पर वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के खतरे के बीच विपक्षी पार्टियों के समर्थकों का सैलाब उमड़ गया।
पाकिस्तानी अखबार डॉन के अनुसार पाकिस्तान की मुख्य विपक्षी पार्टी पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) समेत 11 विपक्षी पार्टियों ने इमरान खान सरकार के खिलाफ हुंकार भरते हुए रविवार को कराची में जोरदार विरोध-प्रदर्शन किया। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान पर दरअसल देश की सेना के साथ वर्ष 2018 के चुनावों में धांधली करने और अलोकतांत्रिक रूप से सत्ता हथियाने का आरोप है, जिसे लेकर विपक्षी पार्टियां एकजुट होकर प्रदर्शन कर रही हैं। श्री खान ने हालांकि सत्ता में आने के लिए पाकिस्तान सेना से मदद के आरोपों का खंडन किया है। श्री खान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को भ्रष्टाचार के मामले में वापस पाकिस्तान लाने के लिए हरसंभव प्रयास करनी की चेतावनी के बावजूद पीडीएम पार्टी ने कराची के बाड़-ए-जिन्ना में जोरदार रैली कर इमरान सरकार को अपने इरादे स्पष्ट कर दिए। पाकिस्तान में 18 अक्टूबर 2007 को देश की पूर्व प्रधानमंत्री बैनजीर भुट्टो पर घर वापसी के दौरान हमला कर दिया गया था और इस हमले में 200 से अधिक लोगों की मौत और 500 से अधिक लोग घायल हो गए थे। संयोग से पीडीएम की यह रैली भी 18 अक्टूबर को आयोजित हुई। इस मौके पर पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के अध्यक्ष बिलावल भुट्टो जरदारी ने रैली में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री पर हमला बोलते हुए कहा- इमरान खान को पिछले तानाशाहों को याद रखना चाहिए। उन्हें अपने जीवन और भाग्य को याद रखना चाहिए। आपकी किस्मत उनसे अलग नहीं होगी।
आप लोगों की आवाज को कभी भी दबा नहीं सकते। लोगों का गुस्सा सरकार और इसकी नींव को मिटा देगा।