एयर कंडीशनर के आयात पर प्रतिबंध
   Date17-Oct-2020

sx3_1  H x W: 0
नई दिल्ली द्य 16 अक्टूबर (वा)
आत्मनिर्भर भारत की दिशा में मोदी सरकार ने एक और कदम बढ़ाया है और चीन को बड़ा झटका दिया है। केंद्र की मोदी सरकार ने घरेलू उत्पादन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से रेफ्रिजरेंट्स के साथ आने वाले एयर कंडीशनर (एसी) के आयात पर पाबंदी लगा दी है। मोदी सरकार के इस फैसले से चीन की सरकार के साथ-साथ वहां के कारोबारियों को भी बड़ा झटका लगेगा।
दरअसल, भारत में एसी का बाजार कुल 40 हजार करोड़ रुपए का है और भारत अपनी एसी की जरूरत का करीब 28 प्र. इम्पोर्ट (आयात) चीन से करता है। कई मामलों में तो एसी के 85 से 100 प्र. पार्ट्स इम्पोर्ट किए जाते हैं। चीन और थाईलैंड से मुख्य रूप से देश एयरकंडीशनर आयातक है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक दोनों देशों से भारत का 90 प्रतिशत तक सामान आयात होता है। दरअसल विदेश व्यापार महानिदेशालय ने एक अधिसूचना में कहा है कि 'रेफ्रिजरेंट्स के साथ एयर कंडीशनर के आयात को लेकर नीति को संशोधित किया गया है। इसके तहत इसे मुक्त श्रेणी से हटाकर प्रतिबंधात्मक सूची में डाला गया है।Ó स्प्लिट और विंडो या अन्य सभी तरह के एयरकंडीशनर के आयात पर रोक लगाई गई है। भारत में कई विदेशी कंपनियों ने अपने प्लांट लगा रखे हैं। नके कारोबार पर इसका असर नहीं होगा। इससे पहले केंद्र सरकार ने जुलाई में टेलीविजन सेट के इम्पोर्ट पर रोक लगाई थी। हालांकि उस पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी गई। जून में सरकार ने कार, बसों और मोटरसाइकिल में उपयोग होने वाले नए न्यूमैटिक टायर के आयात पर भी पाबंदी लगाई थी