श्रीकृष्ण जन्मभूमि मामले में 16 को साक्ष्य पेश करें वादी
   Date13-Oct-2020

aw3_1  H x W: 0
मथुरा द्य 12 अक्टूबर (वा)
उत्तरप्रदेश में मथुरा की एक अदालत ने श्रीकृष्ण जन्मभूमि ट्रस्ट की जमीन के एक भाग में बनी शाही मस्जिद को हटाने संबंधी मामले में वादकारियों से 16 अक्टूबर को साक्ष्य प्रस्तुत करने को कहा है।
वादकारियों के अधिवक्ता हरिशंकर जैन ने बताया कि जिला न्यायाधीश साधना रानी ठाकुर ने उनसे निचली अदालत में प्रस्तुत किए गए साक्ष्य आदि को 16 अक्टूबर को प्रस्तुत करने को कहा है। सिविल जज सीनियर डिवीजन की अदालत से श्रीकृष्ण जन्मस्थान की 13.37 एकड़ जमीन के एक भाग पर बने शाही मस्जिद ईदगाह को खाली कराने संबंधी दायर किए गए। वाद में सिविल जज सीनियर डिवीजन की अदालत से 30 सितम्बर के निर्णय में वाद को खारिज कर दिए जाने के बाद इस वाद के वादियों ने आज जिला जज की अदालत में अपील करते हुए इंचार्ज सिविल जज सीनियर डिवीजन मथुरा के आदेश को रद्द करने तथा इस अपील को स्वीकार करने की प्रार्थना की थी। अपील में श्रीकृष्ण जन्मभूमि ट्रस्ट की 13.37 एकड़ जमीन के उस भूभाग को भी खाली कराने की प्रार्थना की गई है, जिस पर वर्तमान में शाही मस्जिद ईदगाह है। इस अपील की वादी भगवान श्रीकृष्ण विराजमान कटरा केशवदेव खेवट संख्या 255 मौजा मथुरा जिले के मथुरा बाजार सिटी में विराजमान भगवान श्रीकृष्ण के साथ-साथ उनकी गोपी लखनऊ निवासी रंजना अग्निहोत्री एवं पांच अन्य हैंतथा अपील में उत्तरप्रदेश सुन्नी वक्फ बोर्ड लखनऊ के चेयरमैन, शाही मस्जिद ईदगाह कमेटी ऑफ मैनेजमेंट ट्रस्ट के डीग दरवाजा मथुरा निवासी सचिव, श्रीकृष्ण जन्मभूमि मैनेजिंग ट्रस्टी डीग गेट चौराहे के पास जन्मभूमि मंदिर मथुरा एवं सचिव श्रीकृष्ण जन्मस्थान सेवा संस्थान डीग गेट मथुरा को प्रतिवादी बनाया गया है।