तीर्थनगरी में खासगी ट्रस्ट की सभी 12 संपत्तियों का किया अधिग्रहण
   Date11-Oct-2020

az4_1  H x W: 0
जिन्होंने संपत्तियों पर पक्का निर्माण किया था, उन्हें दिए नोटिस
ओंकारेश्वर द्य स्वदेश समाचार
तीर्थनगरी ओंकारेश्वर में शनिवार को खंडवा जिला कलेक्टर के आदेश पर क्षेत्रीय तहसीलदार उदय मंडलोई एवं ओंकारेश्वर नगर परिषद के वरिष्ठ कर्मचारियों तथा मंदिर ट्रस्ट के कर्मचारियों की संयुक्त टीम ने आज नगर में स्थित अहिल्यादेवी खासगी चेरिटेबल टेबल ट्रस्ट की सभी 12 संपत्तियों का अधिग्रहण कर अपने अधीन ले लिया, जिन व्यक्तियों अथवा संस्थाओं के पास यह संपत्ति कब्जे में थी। जिन्होंने इस संपत्ति पर पक्का निर्माण कार्य करवा लिया, ऐसे सभी लोगों एवं संस्थाओं को विधिवत नोटिस देकर इन संपत्तियों पर मध्यप्रदेश शासन द्वारा अधिग्रहण करने संबंधी सूचना पटल लगा दिए गए हैं।
इस संबंध में प्राप्त जानकारी के अनुसार जिन प्रमुख संपत्तियों को अधिग्रहित किया गया है, उसमें ममलेश्वर ज्योतिर्लिंग मंदिर एवं ब्रह्मपुरी क्षेत्र में स्थित श्री गजानन महाराज संस्थान का भक्त निवास भी सम्मिलित है। इसके साथ ही विष्णुपुरी क्षेत्र के महानिर्वाणी पंचायती अखाड़े परिसर से लगी अहिल्यादेवी खासगी ट्रस्ट का बंगला एवं इसी से लगा हुआ मैनेजर का निवास एवं धर्मशाला सम्मिलित है। इसके अलावा ओंकारेश्वर के नवीन बस स्टैंड से कुछ दूरी पर स्थित अहिल्यादेवी खासगी ट्रस्ट का तालाब जिसमें ओंकारेश्वर में नहर बनने के दौरान केडीएस कंपनी द्वारा इस तालाब को मटेरियल से भर दिया गया था तथा इससे लगी भूमि जिस पर रघुवंशी समाज की धर्मशाला बनी हुई है, इस धर्मशाला को भी अधिग्रहित कर लिया गया है। ग्राम कोठी से सनावद जाने वाले भोगांवा मार्ग पर स्थित गंगा बावड़ी एवं इससे लगी 45 डिसमिल कृषि भूमि को भी अधिग्रहित करके यहां पर मध्यप्रदेश शासन का बोर्ड लगा दिया है। अहिल्यादेवी खासगी चेरिटेबल ट्रस्ट की संपत्तियों को अधिग्रहित करने के कार्य में क्षेत्रीय तहसीलदार उदय मंडलोई, ओंकारेश्वर नगर पालिका के प्रभारी अधिकारी दिनेश मिश्रा, उनके सहयोगी अखिलेश डोंगरे, ओंकारेश्वर मंदिर ट्रस्ट के सहायक कार्यपालन अधिकारी अशोक महाजन के साथ राजस्व विभाग मंदिर ट्रस्ट तथा नगर पालिका के अनेक कर्मचारी साथ में उपस्थित थे।