जेएनयू हिंसा मामले में प्राथमिकी दर्ज
   Date06-Jan-2020

f_1  H x W: 0 x 
नई दिल्ली   6 जनवरी (वा)
केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय हिंसा मामले में आज उपराज्यपाल अनिज बैजल से बात की और उनसे विश्वविद्यालय के प्रतिनिधियों के साथ इस मुद्दे पर चर्चा करने को कहा। उधर विश्वविद्यालय में रविवार को हुई हिंसा मामले में दिल्ली पुलिस ने सोमवार को प्राथमिकी दर्ज की। पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि जेएनयू हिंसा मामले में दंगा फैलाने और सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने जैसी धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है।
गृह मंत्रालय के अनुसार इस मामले की जांच दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा को सौंप दी गई है। जेएनयू के रजिस्ट्रार और प्रतिकुलपति ने यहां श्री बैजल से मुलाकात कर उन्हें ताजा स्थिति से अवगत कराया। अमित शाह ने रविवार को दिल्ली पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक से बात की थी और इस मामले की जांच करने को कहा था।  
हिंसा के पीछे वामपंथी छात्र - कुलपति
जेएनयू के कुलपति एम. जगदीश कुमार ने कल रात विश्वविद्यालय परिसर में हुई हिंसा की शुरुआत के पीछे वामपंथी छात्रों का हाथ बताते हुए कहा कि उन्होंने छात्रों के सेमेस्टर की पंजीकरण प्रक्रिया को बाधित किया, जिसके बाद हिंसा भड़की। श्री कुमार ने वाम छात्रों का नाम लिए बिना सोमवार को ट्वीट करके कहा कि आंदोलनकारी छात्रों ने विश्वविद्यालय की संचार व्यवस्था को काट कर शीतकालीन ऑनलाइन पंजीकरण की प्रक्रिया को ठप कर दिया। उसके बाद उन्होंने हिंसा शुरू की दी तथा विश्वविद्यालय में तोडफ़ोड़ भी की, जिससे झगड़े की शुरुआत हुई। उन्होंने भरोसा दिलाया कि छात्रों की सुरक्षा की कोशिश की जाएगी और बाहरी तत्वों की रोकथाम की जाएगी। विश्वविद्यालय को किसी भी कीमत पर हिंसा का स्थल नहीं बनाया जा सकता है। हम छात्रों के साथ हैं। गौरतलब है कि कल की हिंसा में करीब 24 छात्र और कई शिक्षक घायल हो गए थे।
शिक्षा सचिव खरे ने अधिकारियों से बात की
केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय के सचिव अमित खरे ने जेएनयू में रविवार रात हुई जबरदस्त हिंसक घटना के संदर्भ में सोमवार को वहां के अधिकारियों से बातचीत की और इस समस्या को सुलझाने का प्रयास किया।
जेएनयू के प्रतिकुलपति प्रो. चिंतामणि महापात्र, रजिस्ट्रार डॉ. प्रमोद कुमार, रेक्टर (तीन) प्रो. राणा प्रतापसिंह और प्रॉक्टर प्रो. धनंजयसिंह ने श्री खरे से मुलाकात कर विश्वविद्यालय की वर्तमान स्थिति के बारे में जानकारी दी। श्री खरे ने पूरे घटनाक्रम का जायजा लिया। अधिकारियों ने सचिव को पूरी स्थिति का ब्योरा दिया और बताया कि किन हालात में यह घटना घटी।