शराब का लोकव्यापीकरण कर रही प्रदेश सरकार, किसानों की चिंता नहीं- शिवराज
   Date18-Jan-2020

ed5_1  H x W: 0
भोपाल द्य स्वदेश समाचार
प्रदेश में जब भी प्राकृतिक आपदा आती है तो कांग्रेस सरकार अपनी जिम्मेदारी से बचती नजर आती है। किसानों पर आई विपत्ति के समय उन्हें राहत पहुंचाने के बजाय प्रदेश सरकार केन्द्र सरकार का नाम लेती है। प्रदेश में एक साल से प्राकृतिक आपदाएं आ रही हैं। कांग्रेस सरकार को शराब, रेत, परिवहन के नाके और तबादला उद्योग दिखाई दे रहा है। पूरा प्रदेश बेहाल है और विकास पूरी तरह ठप है। कमल नाथ सरकार मदमस्त होकर बैठी हुई है। ओला, पाला से किसान बर्बाद हो रहा है, मगर प्रदेश सरकार में बैठे मुख्यमंत्री, मंत्री पूछने तक नहीं जाते हैं। यह बात पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने शुक्रवार को प्रदेश कार्यालय में मीडिया से चर्चा से करते हुए कही। श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में धान की खरीदी नहीं हो रही है। जिन किसानों से धान खरीदा गया, उनको सरकार पैसे नहीं दे रही है। कांग्रेस सरकार ओला, पाला, धान की चिंता कैसे करेगी? यह तो सिर्फ शराब की चिंता कर रहे हैं। शराब का लोकव्यापीकरण किया जा रहा है। गांव-गांव, घर-घर में शराब बेचने को लेकर सरकार द्वारा अजीबोगरीब तर्क दिया जा रहा है कि अवैध शराब रोकना है तो बेचना पड़ेगा।