इन्दौर में सीएए का हिंसक विरोध तोडफ़ोड़, 27 के खिलाफ प्रकरण
   Date18-Jan-2020

ed1_1  H x W: 0
नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) को लेकर समर्थन-विरोध हेतु प्रदर्शन का दौर देशभर में चल रहा है, लेकिन देखने वाली बात यह है कि अपनी बात कहने के लिए सिर्फ हिंसा का ही सहारा लेकर कोई कैसे अपने को सही ठहरा सकता है? शुक्रवार को वनवासी अंचल आलीराजपुर में जहां पूरे शहरवासी शांतिपूर्ण तरीके से सीएए के समर्थन में सड़कों पर उतरे तो दूसरी तरफ इन्दौर में सीएए के विरोध में मुस्लिम समुदाय के उपद्रवी युवाओं ने हिंसक कृत्यों को दोहरा कर बता दिया कि कौन सही रास्ते पर है?
आलीराजपुर द्य स्वदेश समाचार
नागरिकता संशोधन अधिनियम के समर्थन में हम भारत के लोग मंच द्वारा विशाल तिरंगा रैली निकाली गई। इस रैली में हजारों लोग सीएए के समर्थन में शामिल हुए। स्थानीय टंकी ग्राउंड से दोपहर करीब 2 बजे तिरंगा रैली प्रारंभ हुई, जो नगर के प्रमुख मार्गों से गुजरी। इस दौरान बड़ी संख्या में मातृ शक्तियों ने भारत माता की जयकारों के साथ रैली में भाग लिया।
रैली में 300 मीटर लंबा तिरंगा ध्वज लेकर सैकड़ों लोग रैली में चल रहे थे। इसके साथ ही रैली में शामिल हजारों लोग 'भारत माता की जय, वंदे मातरम, मोदीजी तुम राज करो, हम तुम्हारे साथ हैंÓ के नारे भी लगाते हुए चल रहे थे। रैली इतनी लंबी थी कि उसका एक छोर बस स्टैंड पर था तो दूसरा झंडा चौक में, जिसे देख ऐसा लग रहा था, जैसे मानो पूरा आलीराजपुर उमड़ पड़ा हो। रैली के स्वागत के लिए लोगों ने बस स्टैंड, नीम चौक, पोस्ट आफिस चौराहा, झंडा चौक, रामदेव मंदिर चौराहा व अन्य स्थानों पर शिवाजी महाराज, महाराणा प्रताप, टंट्या मामा, चंद्रशेखर आजाद जैसे महापुरुषों के चित्र एक मंच बनाकर रखे थे, जहां पर महिलाओं द्वारा रंगोली भी सजाई गई थी। रैली को मेला मैदान पर कृष्णगोपाल महाराज ने संबोधित किया। इस दौरान मंच पर संतगण मौजूद थे।