विश्व को करना होगा आतंकवाद की चुनौती से निपटने का आकलन
   Date16-Jan-2020
 
rt9_1  H x W: 0
नई दिल्ली द्य 15 जनवरी (वा)
विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने बुधवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद के कारण परेशानी का सामना करना पड़ रहा है और दुनिया को इस समस्या से कैसे निपटना है इसका आकलन करना होगा।
श्री जयशंकर ने रायसीना डायलॉग में कहा दुनियाभर में कई सामान्य चुनौती है जिसमें आतंकवाद, अलगाववाद और प्रवासी एक सामान्य चुनौती है। इसलिए यह मत सोचिए कि ये समस्याएं भारत के लिए अनोखी हैं। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने और कश्मीर नीति के अन्य पहलुओं पर मोदी सरकार के रूख पर वैश्विक प्रतिक्रिया को लेकर सवाल पूछे जाने पर उन्होंने कहा यह दुनिया के विभिन्न हिस्सों में सामना की जा रही चुनौतियों का एक हिस्सा है और मुझे लगता है कि जब लोग इसे देखते हैं, इसका आंकलन करते हैं और इसका विश्लेषण करते हैं, तो उन्हें निष्पक्षता से खुद से पूछना चाहिए कि वह इसका किस तरह से इसका जवाब देंगे। विदेश मंत्री ने कहा कई बड़े देश हैं जिनके पड़ोस में अशांति है। जैसे यूरोप ने इसे उत्तरी अफ्रीका में देखा है। ज्यादातर लोगों ने इसे 9/11 के समय देखा तो उन सभी ने इस पर क्या प्रतिक्रिया दी। जब आप भारत जैसे देश को देखते हैं, जो इन सामान्य चुनौतियों से निपट रहा है, तो इसे संभालने के अपने पूरे तरीके पर विचार करना महत्वपूर्ण है।