दुनिया साथ खड़ी है, जरूरत एक कदम बढ़ाने की
   Date09-Sep-2019


धर्मधारा
कि स्मत को गढऩा बेहद मुश्किल है। जिंदगी में कभी-कभी आपकी लाख कोशिश मुकाम नहीं दिला पाती। लेकिन कभी मंजिल आराम से मिल जाती है। उसके लिए कोई अतिरक्त प्रयास भी नहीं करने पड़ते। ऐसा भी होता है जब किस्मत को गढऩे और तराशने में काफी कुछ लुट जाता है और सबकुछ पीछे छूट जाता है। यह भी सच है कि जब भगवान देता है तो छप्पर फाड़ कर देता है। हर इंसान की कामयाबी के पीछे एक भगवान छुपा होता है। वह चाहे इंसान के रूप में ही क्यों न हो। इसलिए जिंदगी में रियाज और प्रयास को कभी अलबिदा मत कहिए। पश्चिम बंगाल के रानाघाट की रानू मंडल आज गूगल और इंटरनेट दुनिया की स्टार बन गई हैं। रानाघाट रेलवे स्टेशन पर कुछ दिन पूर्व गुमनाम सी जिंदगी जिने वाली रानू विकिपीडिया में संगीतकार दर्ज हो गई हैं। दुनिया भर में करोड़ों लोग इंटरनेट पर उसे सर्च कर रहे हैं। एक बेहद गरीब परिवार की महिला अपनी आवाज की बुलंदियों की बदौलत सिनेमाई दुनिया में तहलका मचा दिया है। हालात यहां तक पहुंच गए हैं कि वालीवुड का हर नामचीन संगीतकार उसके साथ अपनी आवाज देना चाहता है। स्वर कोकिला लता मंगेशकर के गाए गीत एक प्यार का नगमा है ने रानू को बुलंदियों पर पहुंचा दिया। कभी वह यही गीत गाकर रानाघाट रेलवे स्टेशन पर दो वक्त की रोटी तलाशती थीं। कहते हैं वक्त बदलते देर नहीं लगती। रानू की जिंदगी बदलने में सबसे बड़ा हाथ तो ईश्वर का है। लेकिन असली भाग्यविधाता तो धरती का भगवान साफटवेयर इंजीनियर यतींद्र चक्रवर्ती है जिसने उसका वीडियो वायरल कर हिमेश रेशमिया तक पहुंचाया। हिमेश रेशमिया वालीवुड की नामचीन हस्तियों में शुमार हैं। हिंदी फिल्मों में आज उनके गीत और संगीत का जलवा है। सोशल मीडिया पर रानू मंडल का वायरल हुआ वीडियो हिमेश रेशमिया को इतना भाया कि उन्होंने अपनी आने वाली फिल्म हैप्पी हार्डी और हीर के लिए दो गाने गवाए। जिसकी वजह से उसकी ख्याति और बढ़ गई। हिमेश की तरफ से लांच किए जाने के बाद अब पूरा वालीवुड उसे हाथों-हाथ लेना चाहता है। संगीतकार ए रहमान और सोनू निगम भी उसके साथ गाना चाहते हैं। इसी को कहते हैं तकदीर। कभी मैं अपने हाथों की लकीरों से नहीं उलझा। (क्रमश:)