चंद्रयान-2 : ऑर्बिटर ने विक्रम लैंडर का लगाया पता
   Date09-Sep-2019

बेंगलुरू द्य 8 सितम्बर (वा)
भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान (इसरो) ने कहा है कि चंद्रयान-2 के ऑर्बिटर ने चांद की सतह पर उस स्थान का पता लगा लिया है, जहां उसके लैंडर विक्रम ने लैंड किया है।
इसरो के अधिकारियों ने बताया कि विक्रम से संपर्क टूटने तक ऑर्बिटर तथा लैंडर से मिले डाटा की लगातार निगरानी के बाद उसके लैंड करने के स्थान का पता लगाया जा सका है। इसरो इस बात का पता लगाएगा कि विक्रम लैंडर ने 'हार्ड लैंडिंगÓ की है अथवा चांद की सतह से टकराकर दुर्घनाग्रस्त हो गया है। उन्होंने बताया कि इसका पता विक्रम लैंडर का इसरो से सम्पर्क टूटने से पहले अंतिम क्षण तक उसके द्वारा भेजे गए डाटा का अध्ययन करके ही लगाया जा सकता है। सूत्रों ने बताया कि ऑर्बिटर द्वारा रविवार को ली गई तस्वीरों को देखने के बाद संभावना जताई जा रही है कि विक्रम लैंडर ने या तो 'हार्ड लैंडिंगÓ की होगी अथवा चांद की सतह से टकराकर दुर्घनाग्रस्त हो गया होगा। इन तस्वीरों का विश्लेषण किया जा रहा है।
चंद्रयान में उच्च तकनीक (हाइएस्ट रेजलूशन) कैमरा (0.3 एम) लगा हुआ है, जो स्पष्ट तस्वीरें भेजेगा और इसरो लगातार उनका निरीक्षण करेगा। इसरो के अध्यक्ष के. शिवन ने कहा है कि संगठन विक्रम लैंडर का इसरो से सम्पर्क टूटने से पहले अंतिम समय तक ली गई थर्मल इमेजेज का आज से अध्ययन करेगा।