बिकवाली का दबाव होने से सोया तेल में नरमी : लेवाली कमजोर
    Date09-Sep-2019

 
इन्दौर ठ्ठ व्यापार प्रतिनिधि
खाद्य तेलों में सोया तेल, पाम तेल का हाजर स्टाक अधिक होने से इसमें बिकवाली का रूख है। रिसेलर भाव घटाकर बेचू है। अगले कुछ दिनों में नए सोयाबीन की आवक शुरू हो जाएगी। आवक बढऩे पर भी भाव घटने की संभावना है, परंतु वर्तमान में लगातार बरसात से ग्रामीण क्षेत्रों के हालत ठीक नहीं है। फसलों को लेकर ्निश्चितता बनी रहने से किसान परेशान है। यदि अब मौसम खुल जाए, साफ हो जाए तो सभी फसलें ठीक हो जाएगी। सोयाबीन की फसल पर बरसात व बादलाई मौसम में इल्ली लग रही है या खेतों में पानी भरा होने से फसल सडऩे लगी है। इसके अलावा फिलहाल तेलों में मांग का भारी अभाव है। भावों में मंदी गहराती जा रही है और अब श्राद्ध पक्ष लगने वाले है। ऐसे में लेवाली और कमजोर पड़ जाने की आशंका है। वही फिलहाल आयात शुल्क बढऩे की भी संभावना नहीं है। वैसे भी आज डोल ग्यारस का पर्व होने से कामकाज कमजोर रहा। शिकागो सोया वायदा 8 सेंट माइनस रहा। जबकि यहां वायदा में रनिंग में सोया तेल सितंबर का 744 रु. 70 पैसे, अक्टूबर का 749 रु. 70 पैसे चल रहा था। जबकि सीड सितंबर की 3732 रु., अक्टूबर की 3576 रु. तथा सरसों अक्टूबर की 3876 रु., नवंबर की 3959 रु. रही। जिससे हाजर तेलों में मंदी रही। कामकाज के दौरान सींगदाना तेल इंदौर, 1050 से 1070, मुंबई तेल 1070, राजकोट तैलिया 1670, गुजरात 1050, सोया रिफाइंड इंदौर 740 से 742, सोया साल्वेंट 700 से 705, गुजरात काटन वाश्ड 740, मुंबई काटन तेल 792, मुंबई सोया रिफाइंड 748, मुंबई सोया डीगम 705, रेपसीड तेल 800, मुंबई पाम तेल 638, गुजरात पाम तेलल 617, इंदौर पाम तेल 670 रु.।