नर्मदा नेमावर में खतरे के निशान से २ फीट ऊपर
   Date09-Sep-2019
 
सोमवार द्य स्वदेश समाचार
बादलों के जमकर बरसने और भारी बारिश से जूझ रहे मध्यप्रदेश में अभी अगले दो दिन तक बारिश से राहत की कोई उम्मीद नहीं दिखाई है। उधर नेमावर में नर्मदा खतरे के निशान से दो फीट ऊपर बह रही है। निचली बस्तियों को खाली करवा दिया गया है। वहीं ओंकारेश्वर में मोरटक्का पुल से वाहनों का आवागमन रोका गया है। ओंकारेश्वर बांध के १८ गेट खोलने के साथ ६ टरबाईन लगातार चलाए जा रहे हैं। वहीं उज्जैन में शिप्रा में बाढ़़ के हालात निर्मित हो चुके हैं। इंदौर में भी लगातार हल्की-तेज बारीश का दौर जारी है।
ठ्ठ राजधानी भोपाल में दो दिन से लगातार हो रही मूसलधार बारिश के चलते सामान्य जनजीवन प्रभावित हुआ है। भारी बारिश के मद्देनजर आज कलेक्टर तरुण पिथोड़े ने सभी स्कूलों में अवकाश की घोषणा की है। राजधानी की निचली बस्तियों में बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं।
ठ्ठ मौसम विभाग ने आज भी राजधानी भोपाल समेत 32 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी दी है। सीहोर में चारों तरफ पानी-पानी के हालात देखे जा रहे हैं। पिछले 24 घंटे में जिले में सबसे अधिक 118 मिलीमीटर बारिश इछावर तहसील में दर्ज की गई। रात से रुक-रुककर बादल बरसने का क्रम जारी है। आज जिलेभर के स्कूल-कॉलेजों में अवकाश रखा गया है।
अशोकनगर जिले की चंदेरी तहसील अंतर्गत मध्यप्रदेश और उत्तरप्रदेश की सीमा पर बने राजघाट बांध के गेट पिछले तीन दिन से खुले हुए हैं। इस कारण अशोकनगर और आसपास के अन्य नजदीकी जिलों में अच्छी बारिश होने से बेतवा नदी में पानी का बहाव ज्यादा रहने के कारण बारिश के इस सीजन में राजघाट बांध के गेट पांचवीं बार खोले गए हैं।
विदिशा जिले में लगातार तेज बारिश के कारण बाढ़ के हालात बन गए हैं। इस बीच जिला प्रशासन ने एहतियातन आज कक्षा एक से बारहवीं तक के सभी स्कूलों में अवकाश घोषित कर दिया है।
हरदा जिले में शनिवार और रविवार को लगातार बारिश होने के कारण जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है। हालांकि प्रशासन ने भी बाढ़ जैसे हालातों से निपटने के लिए एहतियातन सभी प्रबंध किए हैं। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि जिले में वर्षा से सबसे अधिक प्रभावित टिमरनी तहसील में अधिकांश रिहायशी इलाकों में पानी भर जाने के कारण स्थानीय लोगों को मुश्किल हालातों से जूझना पड़ रहा है।
रायसेन जिले के बारना बांध के सभी आठों गेट भारी बारिश के चलते कल खोल दिए गए, जिसके चलते भोपाल का जबलपुर से सड़क सम्पर्क टूट गया है। जिले के बाड़ी के पास बारना नदी पर बने पुल पर आठ फीट से ज्यादा पानी है। जिला प्रशासन ने भारी बारिश के चलते आज एक से बारहवीं कक्षा तक सभी स्कूलों में अवकाश घोषित कर दिया है।
नरसिंहपुर जिले के गोटेगांव से शाहपुरा होकर जबलपुर जाने वाले सड़क मार्ग पर नर्मदा नदी के झांसीघाट पर बने पुल तक कल देर रात पानी आ जाने के कारण एहतियातन पुल पर यातायात बंद कर दिया गया।