चांद पर सुरक्षित है चंद्रयान-2 का विक्रम लैंडर नहीं हुई टूट-फूट - इसरो
   Date09-Sep-2019

 
नई दिल्ली  9 सितम्बर
चंद्रयान-2 को लेकर बड़ी खबर आई है। चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर से संपर्क टूटने के बाद बिना उम्मीद खोए इसरो लगातार कोशिश कर रहा है कि किसी तरह लैंडर से ऑर्बिट का संपर्क स्थापित हो सके। इसी कड़ी में इसरो को बड़ी सफलता मिली है और ऑर्बिट द्वारा भेजी गई थर्मल इमेज में विक्रम लैंडर लुनर सरफेस पर सुरक्षित दिखा है। विक्रम सुरक्षित है और कोई भी टूट-फूट नहीं हुई है। हालांकि, इसरो लैंडर के साथ संचार को फिर से स्थापित करने का हरसंभव प्रयास कर रहा है। तस्वीर से यह साफ हो गया है कि लैंडर की भले ही हार्ड लैंडिंग की बात कही जा रही हो, मगर यह टूटा नहीं है।तस्वीर में विक्रम लैंडर एक टुकड़े में यानी साबुत दिख रहा है। इसरो मिशन से जुड़े एक अधिकारी ने सोमवार को दावा किया कि यह ऑर्बिटर के ऑन-बोर्ड कैमरे द्वारा भेजी गई तस्वीरों से यह साफ हो गया है कि जहां पर लैंडिंग होनी थी, वहां लैंडर की हार्ड लैंडिंग हुई है। ऑर्बिटर की तस्वीर में लैंडर एक ही टुकड़े के रूप में दिख रहा है। लैंडर टुकड़ों में नहीं टूटा है। यह चांद की सतह पर झुकी हुई स्थिति में है। अधिकारी ने कहा कि हम यह देखने का हरसंभव प्रयास कर रहे हैं कि क्या लैंडर के साथ संचार फिर से स्थापित किया जा सकता है।