भावुक हुए शिवन, मोदी ने बंधाया ढांढस
   Date08-Sep-2019

इसरो के अध्यक्ष के. शिवन चंद्रयान-2 में आई बाधा के बाद भावुक हो गए, जिससे उनकी आंखों में आंसू आ गए और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उन्हें गले लगाकर ढांढस बंधाया। उन्होंने कहा कि वे निराशा के पलों को पीछे छोड़कर देश के अंतरिक्ष कार्यक्रम को नए संकल्प और दृढ़ इच्छा शक्ति के साथ निरंतर जारी रखे। प्रधानमंत्री ने कहा कि जल्द ही नया सवेरा होगा और देश अपने अंतरिक्ष कार्यक्रमों में पूरी तरह सफल रहेगा।
कोशिश करने वाले कभी हारते नहीं - वहीं शिवन ने चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम से संपर्क टूटने के बाद इसरो के भावी मिशनों की चर्चा करते हुए शनिवार को कहा कि कोशिश करने वाले कभी हार नहीं मानते।
डॉ. शिवन ने इंग्लैंड के पूर्व प्रधानमंत्री ,कूटनीतिज्ञ एवं प्रखर वक्ता विंस्टन चर्चिल के विचार को उद्धृत करते हुए ट्वीट किया- न तो सफलता अंतिम है और न ही विफलता घातक है। उन्होंने कई ट्वीट किए और इसरो के कई भावी मिशनों की जानकारी दी। डॉ. शिवन ने कहा- अस्ट्रोसैट, आदित्य एल-1, गंगायान, मंगलान-2 और चंद्रयान-3 इसरो के भावी मिशन हैं।