चिदम्बरम को तिहाड़ जेल भेजा
   Date06-Sep-2019

नई दिल्ली द्य 5 सितम्बर (वा)
देश के सर्वोच्च न्याय मंदिर से जमानत के मामले में तगड़ा झटका खाने के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री पी. चिदम्बरम को सीबीआई की विशेष अदालत ने आईएनएक्स मीडिया मामले में गुरुवार को 19 सितम्बर तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेजने का आदेश दिया। आईएनएक्स मीडिया भ्रष्टाचार और धनशोधन मामले में श्री चिदम्बरम 22 अगस्त से सीबीआई हिरासत में थे। आज हिरासत की अवधि खत्म होने पर अदालत ने उन्हें न्यायिक हिरासत में भेजने का आदेश दिया। विशेष न्यायाधीश अजय कुमार कुहार ने पूर्व केंद्रीय मंत्री के वकील कपिल सिब्बल की उस दलील को अस्वीकार कर दिया, जिसमें श्री चिदम्बरम को न्यायिक हिरासत में नहीं भेजने का आग्रह किया गया था। पूर्व वित्त मंत्री इस मामले में अब 14 दिन जेल में गुजारेंगे। उन्हें देर शाम तिहाड़ जेल भेजा गया। उन्हें 21 अगस्त की रात को सीबीआई ने यहां उनके निवास से गिरफ्तार किया था। श्री चिदम्बरम को आज सीबीआई की हिरासत खत्म होने पर राउज एवेन्यू स्थित विशेष न्यायाधीश की अदालत में पेश किया गया। श्री सिब्बल ने अदालत से अनुरोध किया कि उनके मुवक्किल प्रवर्तन निदेशालय के समक्ष आत्मसर्पण के लिए तैयार हैं और उन्हें न्यायिक हिरासत में नहीं भेजा जाना चाहिए। उन्होंने श्री चिदम्बरम की न्यायिक हिरासत का विरोध करते हुए कहा कि उनके मुवक्किल पर जांच को प्रभावित करने अथवा उसमें किसी प्रकार की बाधा पहुंचाने का कोई आरोप नहीं है। उन्होंने कहा कि उनके मुवक्किल आईएनएक्स मीडिया धनशोधन मामले में ईडी की हिरासत में जाने के लिए तैयार हैं। हाईकोर्ट ने 20 अगस्त को याचिका रद्द करते हुए कहा था- शुरुआती तौर पर चिदम्बरम भ्रष्टाचार और मनी लॉण्ड्रिंग के मामले में किनपिंग लगते हैं। वे मौजूदा सांसद हैं, सिर्फ इसलिए अग्रिम जमानत नहीं दी जा सकती है। प्रभावी जांच के लिए हिरासत में लेकर पूछताछ जरूरी है। इस मामले में गिरफ्तारी से राहत देने से समाज में गलत संदेश जाएगा।