2300 लोगों को धर्मशाला, स्कूल भवनों व पंचायत भवनों में ठहराया
   Date15-Sep-2019

 
भोपाल/ नीमच द्य 15 सितंबर (वा)
मप्र के नीमच व मंदसौर जिले में पिछले तीन दिनों से लगातार जारी बारिश से आम जनजीवन, आवागमन और काम-काज अस्त-व्यस्त हो गया है। इस वर्षा सत्र में अभी तक जिले में औसत 63 इंच बारिश हो चुकी है और क्रम जारी है। फसलें तबाह हो गई है और कई गांव खाली करवाए गए हैं।
लगातार बारिश के चलते गांधीसागर बांध के सारे गेट खोल दिए जाने के बाद नीमच जिले के मनासा उपखंड के रामपुरा एवं कुकड़ेश्वर सहित कई गांवों में जल भराव की स्थिति बन गई। करीब 2300 लोगों को धर्मशाला, स्कूल भवनों और पंचायत भवनों में ठहराया गया है। उनको मूलभूत सुविधाएं दी जा रही है। सीआरपीएफ की दो कम्पनियां भी सहयोग में लगाई गई है।
जिले के जीरन, चिताखेड़ा, पालसोड़ा, भंवरासा सहित लगभग 30 गांवों में नागरिकों को मदद दी जा रही है जिनके घरों में पानी भर गया है।
बलवंती के बाढ़ का पानी कॉलोनी में घुसा
बदनावर में रविवार को दिनभर में तेज बारिश होने से चारों ओर पानी ही पानी भर गया। पहली बार बलवंती नदी में आई बाढ़ से कई कॉलोनियों में पानी भर गया तथा बस स्टैंड परिसर में फैल गया। करीब 3 बजे से पानी भरने के बाद देर रात तक यही स्थिति रही। सभी दूर से फसलें खराब होने के समाचार मिल रहे हैं।