संत का संकल्प
   Date09-Aug-2019

प्रेरणादीप
स्वा मी सत्यमित्रानंदजी ने हरिद्वार में प्रसिद्ध भारत माता मंदिर बनवाया था। इसमें नीचे के तल पर अखंड भारत का मानचित्र एवं भारत माता की देवी के रूप में भव्य मूर्ति है। 1983 में इस मंदिर का उद्घाटन होना था। पंजाब में उस समय खालिस्तानी आतंक चरम पर था। श्रीमती इंदिरा गांधी प्रधानमंत्री बन अनेक समस्याओं से जूझ रही थी। राष्ट्रीय एकता और एकात्मता का भाव प्रबल करने के उद्देश्य से स्वामीजी ने भारत माता मंदिर का उद्घाटन प्रधानमंत्री से ही कराना तय किया। पूज्य सत्यमित्रानंदजी उन्हें निमंत्रित करने गए तो श्रीमती इंदिरा गांधी ने व्यस्तता की बात कहकर अपनी असमर्थता बताई। स्वामीजी ने कहा - आप अवश्य आएंगी, यह एक संत का संकल्प है। यह कहकर स्वामीजी वापस आ गए। दूसरे दिन प्रधानमंत्री कार्यालय से संदेश आया कि श्रीमती गांधी नियत दिन और समय पर मंदिर का उद्घाटन करेगी। वे 15 मई 1983 को ठीक समय पर पहुंची तथा सभी कार्यक्रमों में भाग लिया।