उज्जैन-मंदसौर के स्कूलों में अवकाश घोषित
   Date09-Aug-2019
 

शुक्रवार   स्वदेश समाचार
मध्यप्रदेश में हो रही भारी बारिश के चलते नदी नालों में उफान कायम रहने और बरगी बांध से पानी छोड़े जाने के कारण कई क्षेत्रों में सामान्य जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है। मालवा-निमाड़ में जोरदार बारिश के चलते वनवासी अंचल झाबुआ में नदी-नाले उफान पर है वहीं भारी बारिश के चलते उज्जैन नगर एवं मंदसौर में जिला प्रशासन ने शनिवार को स्कूलों में अवकाश घोषित किया। जबलपुर के बरगी बांध के 21 में से 15 गेट खोलने से आज रात रायसेन जिले में नर्मदा नदी के तटवर्ती इलाकों में पानी बढऩे की संभावना के कारण तहसीलदार निकिता तिवारी ने बरेली और उदयपुरा क्षेत्र में निचली बस्तियों में बसे लोगों को सुरक्षित स्थानों पर जाने की मुनादी करवा दी है। रायसेन जिले में बारना नदी का पानी भी पुलिया से दो फीट ऊपर बहने से रायसेन से सागर का सड़क मार्ग बाधित हो गया है। रायसेन से भोपाल, जबलपुर और विदिशा मार्ग भी नदी नालों के उफान से अवरुद्ध है। खरगोन में लगातार हो रही बारिश से कुंदा नदी में बाढ़ आ गई। आसपास के गांव भगवानपुरा में देजला-देवाड़ा बांध भरने से पिपलझोपा मार्ग अवरुद्ध हो गया। बिस्टान में मकान की दीवार गिरने से घरेलू सामान खराब हो गया। खारक बांध समेत कई जलाशयों में पानी बढ़ गया।
ठ्ठधार जिले में जीराबाद मान डेम के चार गेट खोलने से मनावर नदी पुल के ऊपर दूसरे दिन भी पानी आ गया।
ठ्ठआलीराजपुर बीते 48 घंटे से कभी तेज कभी रिमझिम बारिश का दौर जारी है। हथनी नदी का जलस्तर बढ़ता जा रहा है। वहीं फाटा डेम के आठों गेट खोल दिए गए है।
ठ्ठझाबुआ गुरुवार दिन से शुरू हुआ बारिश का दौर अनवरत जारी है। नदी-नाले उफान पर हैं। रामकुले नाले में ट्रक बह गया। वहीं घरों और दुकानों में पानी घुस गया।
ठ्ठरतलाम में 48 घंटे लगातार बारिश होने से जनजीवन पूरी तरह प्रभावित है। सारे जलाशयों का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है। वहीं धोलावाड़ डेम के दो गेट भी खोल दिए गए।
ठ्ठबुरहानपुर पिछले 24 घंटे में 5 इंच बारिश हुई। ताप्ती नदी दूसरे दिन शुक्रवार को भी उफान पर आ गई। ताप्ती नदी का पानी खतरे के निशान से 5 मीटर ऊपर बहा। ताप्ती नदी के सभी घाट डूब गए। जैनाबाद को जोडऩे वाला पुल डूब गया। ताप्ती नदी का राजघाट डूब गया। ऐतिहासिक परकोटे के गेट तक पानी चढ़ गया। यहां पर बैरिकेड लगाकर लोगों को रोक दिया गया। मौके पर पुलिस जवान तैनात हो गए। ताप्ती नदी का जलस्तर बढ़ते ही निचली बस्तियों में अलर्ट जारी कर दिया गया था।
नीमच जिले में अभी तक 29 इंच बारिशठ्ठनीमच में अभी तक औसतन 29 इंच बारिश हो चुकी है। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार जिले में बीते एक-दो दिनों से रुक-रुककर लगातार बारिश का क्रम बना हुआ है और आज तक 29 इंच बारिश हो चुकी है। जिला मुख्यालय नीमच के पेयजल का स्रोत जाजू सागर बांध अच्छी बारिश के चलते पूरा भर गया है।