मिट गया ३७० का कलंक
   Date08-Aug-2019

जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त, अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को राष्ट्रपति कोविंद के हस्ताक्षर से समाप्त करने की अधिसूचना जारी
नई दिल्ली द्य 7 अगस्त (वा)
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के हस्ताक्षर के साथ ही जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के प्रावधान निष्प्रभावी हो गए। इसी के साथ भारत के भाल (मस्तक) कहलाने वाले जम्मू-कश्मीर राज्य पर लगा दशकों पुराना कलंक मिट गया।
श्री कोविंद ने मंगलवार को ही देर शाम संबंधित अधिसूचना पर हस्ताक्षर कर दिए। इसके साथ ही यह कानून प्रभावी हो गया और जम्मू-कश्मीर का विशेष राज्य का दर्जा समाप्त हो गया। राजपत्र में जारी अधिसूचना के अनुसार, राष्ट्रपति ने भारत के संविधान के अनुच्छेद 370 के खंड (एक) के साथ पठित अनुच्छेद खंड (तीन) के तहत प्रदत्त शक्तियों का इस्तेमाल करते हुए संसद की सिफारिश पर छह अगस्त 2019 से उक्त अनुच्छेद के एक खंड को छोड़कर सभी को निष्प्रभावी करार दिया है। गौरतलब है कि गत सोमवार को राज्यसभा में पारित होने के बाद संबंधित विधेयक मंगलवार को लोकसभा में पेश किया गया था, जहां लंबी चर्चा के बाद इसे पारित कर दिया गया। इसके बाद केंद्र सरकार ने अनुमोदन के लिए उसे राष्ट्रपति के पास भेज दिया था।
श्री कोविंद ने अधिसूचना पर देर शाम हस्ताक्षर कर दिया।