पौधारोपण से संभव धरती के विनाश पर रोक
   Date02-Aug-2019

धर्मधारा
(गतांक से आगे)
ओ जोन गैस मानव जीवन के लिए बहुत जरूरी है। इसलिए तो सूर्योदय से दो-तीन घंटे पूर्व जागने की परम्परा हमारे यहां प्रचलित थी। जैसे-जैसे सूर्योदय होता है, ओजोन परत धरती से ऊपर उठती जाती है। इस हेतु धरती की समग्र रक्षा के लिए ओजोन परत का बना रहना बहुत जरूरी है। अन्यथा धरती पर सूर्य की किरणें अग्नि वर्षा करने लगेंगी, तब धरतीवासियों का क्या होगा? इसलिए पेड़-पौधों का वर्तमान समय में अधिकाधिक रोपण व उनको संवद्र्धित तथा संरक्षित करने की महती आवश्यकता है। इस वर्षाकाल से वन महोत्सव के रूप में सघन पौधारोपण अभियान की जरूरत है। हर व्यक्ति 1 पौधा रोपित करे व उसे पाल-पोसकर बड़ा करने की जिम्मेदारी उठाए। उन सभी धनपतियों से निवेदन है कि खर्चीली शादियां जो करोड़ों को पार कर जाती है, उन्हें चाहिए कि वे शादी में पौधारोपण संबंधी मुहिम की व्यवस्था करें। लाखों रुपए टेंट लाइट विद्युत सज्जा पर खर्च कर देते हैं। उनके कटौती कर पौधारोपण अभियान विवाह में सम्मिलित हुए अतिथि मेहमानों से निवेदन कर इसे गति प्रदान करें। (क्रमश:)