संवैधानिक दायरे में है भारत का फैसला
    Date10-Aug-2019
 
 
मास्को  10 अगस्त (वा)
पाकिस्तान को भारत में जम्मू-कश्मीर पर लिए गए निर्णय के संबंध में अमेरिका, चीन के बाद रूस से भी तगड़ा झटका लगा है। रूस ने जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 को समाप्त करने के भारत सरकार के निर्णय का समर्थन करते हुए इसे संवैधानिक दायरे के भीतर करार दिया है।
रूस के विदेश मंत्रालय ने एक वक्तव्य जारी कर कहा- रूस भारत और पाकिस्तान के बीच संबंधों को सामान्य रखने का का लगातार समर्थन करता रहा है। हम आशा करते हैं कि दोनों देशों के बीच मतभेदों को राजनीतिक और कूटनीतिक माध्यमों द्वारा द्विपक्षीय आधार पर 1972 के शिमला समझौते और 1999 के लाहौर घोषणा के प्रावधानों के अनुसार हल किया जाएगा।
मंत्रालय ने कहा- रूस को उम्मीद है कि भारत और पाकिस्तान जम्मू-कश्मीर राज्य की स्थिति में परिवर्तन के कारण क्षेत्र में स्थिति को बिगडऩे की अनुमति नहीं देंगे। हम इस तथ्य को स्वीकार करते हैं कि कि जम्मू-कश्मीर राज्य के दर्जे में बदलाव और उसके दो केंद्र प्रशासित प्रदेशों में विभाजन भारतीय गणराज्य के संविधान के ढांचे के भीतर किया गया है। बयान में कहा गया है- हमें उम्मीद है कि इसमें शामिल पक्ष निर्णय के परिणामस्वरूप क्षेत्र में स्थिति को बिगडऩे की अनुमति नहीं देंगे।
 
विदेशी राष्ट्रों के समक्ष हुआ पाक का पर्दाफाश - भारत
नई दिल्ली द्य भारत के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के संबंध में निर्णय लिए जाने के बाद भारत ने कई देशों को इस बारे में राजनयिक माध्यम से स्थिति स्पष्ट की है। यहां तक कि विदेश मंत्री के स्तर पर भी बात की गई। उन्होंने कहा कि इन देशों ने भारत की बात को समझा है और स्वीकारा है। इन देशों के समक्ष पाकिस्तान का पर्दाफाश हो गया है। पाकिस्तान परेशान है। उसे लग रहा है कि अब जम्मू-कश्मीर को लेकर उसकी साजिशें सफल नहीं होगी और लोगों को गुमराह करने का उसका एजेंडा आगे नहीं बढ़ पाएगा, इसलिए वह दुनिया के सामने चिंताजनक तस्वीर पेश कर भय का माहौल बनाने की कोशिश कर रहा है।
जम्मू में खुले स्कूल, घाटी में नियंत्रण में हालात
श्रीनगर द्य जम्मू-कश्मीर में हालात अब सामान्य होने लगे हैं। शुक्रवार को जम्मू से धारा 144 हटाने और कश्मीर में जुम्मे की नमाज के लिए स्थानीय मस्जिदों में ढील देने के एक दिन बाद शनिवार को जम्मू में सभी स्कूल खुल गए।
ठ्ठ पुंछ, राजौरी और रामबन जिलों में हालांकि पाबंदियां लागू रहेंगी। जम्मू जिला प्रशासन ने केन्द्र के कदम के मद्देनजर पांच अगस्त को धारा 144 के तहत लगाई निषेधाज्ञा को शुक्रवार को वापस ले लिया।
ठ्ठ जम्मू की जिला मजिस्ट्रेट सुषमा चौहान की ओर से जारी आदेश के अनुसार, सभी स्कूल, कॉलेज और शिक्षण संस्थान 10 अगस्त से सामान्य कामकाज शुरू कर सकते हैं।
ठ्ठ किश्तवाड़ के जिला विकास आयुक्त अंग्रेजसिंह राणा ने बताया कि नगर के विभिन्न हिस्सों में चरणबद्ध तरीके से कफ्र्यू में एक घंटे की ढील दी गई। पूरे जिले में शुक्रवार की नमाज शांतिपूर्ण ढंग से अदा की गई।
ठ्ठ कफ्र्यू में पहली बार शाम 4 से 5 बजे तक वासर, संगरभट्टा और गिरिनगर के अंतर्गत आने वाले क्षेत्रों में ढील दी गई और फिर शाम 6 बजे से 7 बजे तक पोचल-बी, हट्टा, सरकूट और भगवान मोहल्ला इलाकों में ढील दी गई।
ठ्ठ स्थिति शांतिपूर्ण रही और शनिवार को शहर और इसके आसपास के अन्य हिस्सों में कफ्र्यू में ढील दी जाएगी।