डॉ. मोहन भागवत भी ट्विटर से जुड़े
   Date02-Jul-2019

नागपुर द्य राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत और संघ के कुछ अन्य पदाधिकारी माइक्रो-ब्लागिंग साइट पर सोमवार को दिखे। माइक्रो-ब्लागिंग साइट (ट्विटर) में शामिल होने वाले अन्य पदाधिकारियों में सरकार्यवाह सुरेश जोशी 'भैयाजीÓ, सहसरकार्यवाह कृष्णगोपाल व सुरेश सोनी, साथ ही अरुण कुमार, अनिरुद्ध देशपांडे आदि हैं। संघ के 95वीं वर्षगांठ के अवसर पर वर्ष 2011 में संस्था ट्विटर में शामिल हुई थी।
, लेकिन संस्था के शीर्ष नेता इससे दूर थे। संघ की स्थापना 1925 में हुई थी और भारतीय जनता पार्टी के लिए काम करती रही। संस्था को आधुनिक बनाये रखने के लिए सर्वप्रथम खाकी हॉफ पैंट की जगह फुलपैंट लाई गई। आज के समय में ट्विटर राजनीति सामाजिक-सांस्कृतिक प्रवचन के साथ मनोरंजन का एक बहुत बड़ा प्लेटफार्म बन चुका है। श्री भागवत के ट्विटर प्लेटफार्म पर आना लोगों की उत्सुकता बढ़ा रहा है, क्योंकि पिछले वर्ष श्री भागवत ने ट्विटर को 'मैं, मेरा, मेराÓ कहकर सार्वजनिक रूप से निंदा की थी। श्री भागवत को संघ के सरसंघचालक पद के लिए 21 मार्च 2009 को चुना गया था। श्री भागवत के ट्विटर से जुडऩे से संस्था की प्रसिद्धि और बढ़ेगी।