धोनी पर निगाहें, विराट को भी मिल सकता है आराम
    Date18-Jul-2019

रिषभ पंत को मिल सकता है मौका
नयी दिल्ली, 18 जुलाई (वार्ता)
आईसीसी विश्वकप के सेमीफाइनल में हारकर बाहर हो गयी भारतीय क्रिकेट टीम के अगले महीने होने वाले वेस्टइंडीज़ दौरे के लिये भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के चयनकर्ताओं की बैठक होगी जिसमें निगाहें अनुभवी विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी की उपलब्धता पर लगी होंगी।
इंग्लैंड में हुये विश्वकप से पूर्व अटकलें लगायी जा रही थीं कि धोनी के करियर का यह आखिरी विश्वकप होगा जिसके बाद वह संन्यास की घोषणा कर सकते हैं। लेकिन धोनी अभी भी टीम के साथ बने हुये हैं और उनके भविष्य को लेकर संशय की स्थिति भी बरकरार है। ऐसे में सभी की निगाहें इस बात पर लगी हैं कि वेस्टइंडीज़ दौरे की सीमित ओवर टीम में विकेटकीपर बल्लेबाज़ को जगह मिलेगी या नहीं। वहीं टीम चयन में निगाहें कप्तान विराट कोहली पर भी लगी रहेंगी जिन्हें काफी समय से आराम दिये जाने की चर्चा चल रही है। माना जा रहा है कि विराट इस दौरे से विश्राम ले सकते हैं। इसके अलावा तेज़ गेंदबाज़ जसप्रीत बुमराह को भी विंडीज़ दौरे पर आराम दिया जा सकता है। बुमराह विश्वकप में काफी सफल रहे थे।
भारतीय टीम अगले महीने वेस्टइंडीज़ दौरे पर पहुंचेगी जिसकी शुरूआत तीन अगस्त से होनी है। इस सीरीज़ में टीम को ट्वंटी 20, वनडे और दो टेस्ट मैच खेलने हैं। विश्वकप में भारतीय टीम के सेमीफाइनल में हारकर बाहर हो जाने के बाद 38 वर्षीय धोनी के भविष्य को लेकर कई तरह की अटकलें लगायी जा रही थीं जिनका प्रदर्शन आईसीसी टूर्नामेंट में औसत रहा था और अपनी धीमी बल्लेबाज़ी के लिये उन्हे काफी आलोचना भी झेलनी पड़ी थी। उम्मीद की जा सकती है कि चयनकर्ता धोनी के बजाय विंडीज़ दौरे के लिये युवा विकेटकीपर रिषभ पंत को मौका दें जिन्हें काफी समय से धोनी का उत्तराधिकारी भी माना जा रहा है। भारत को आस्ट्रेलिया में अगले वर्ष ट्वंटी 20 विश्वकप खेलना है। धोनी को गत वर्ष अक्टूबर में वेस्टइंडीज़ और आस्ट्रेलिया दौरे में ट्वंटी 20 सीरीज़ में भी जगह नहीं दी गयी थी।
प्रसाद करेंगे धोनी से बात
उल्लेखनीय है कि चयनकर्ता प्रमुख एमएसके प्रसाद ने भी विंडीज़ दौरे के लिये टीम चयन से पूर्व कहा था कि धोनी का टीम में चयन निर्धारित नहीं है। साफ है कि आगामी ट्वंटी 20 विश्वकप को देखते हुये बोर्ड नये चेहरों को टीम में मौका दे। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार प्रसाद जल्द ही धोनी से उनके करियर को लेकर बात कर सकते हैं। पूर्व कप्तान की जगह विकेटकीपिंग के लिये पंत को पहली पसंद माना जा रहा है जिन्हें विश्वकप में चोटिल ओपनर शिखर धवन की जगह टीम में लिया गया था। टीम के कप्तान मनीष पांडे, शुभमन गिल, श्रेयस अय्यर, क्रुणाल पांड्या का अब तक इस सीरीज़ में प्रदर्शन बेहतरीन रहा है और चयनकर्ता मध्यक्रम की अनसुलझी गुत्थी सुलझाने के लिये इनमें से किसी को मौका दे सकते हैं। भारत ए के तीसरे मैच में मनीष 100 रन की पारी खेलकर मैन ऑफ द मैच रहे थे। कर्नाटक के मयंक अग्रवाल भी मध्यक्रम में एक अन्य विकल्प हो सकते हैं जिनका घरेलू सत्र में अच्छा प्रदर्शन रहा है। विश्वकप टीम में जगह नहीं मिलने से निराश अंबाटी रायुडू के रिटायरमेंट और ऑलराउंडर विजय शंकर के निराशाजनक प्रदर्शन के बाद चयनकर्ता बल्लेबाज़ शुभमन गिल और पृथ्वी शॉ को भी मौका दे सकते हैं।