बल्लेबाजों ने तोड़ा करोड़ों भारतीयों का सपना, न्यूजीलैंड फाइनल में
   Date10-Jul-2019
 
मैनचेस्टर ठ्ठ विश्वकप वर्ल्ड कप के पहले सेमीफाइनल में न्यू जीलैंड से हारकर टीम इंडिया का सफर यहीं पर समाप्त हो गया है। कीवी टीम ने पहले खेलते हुए 240 रन का लक्ष्य दिया था लेकिन भारतीय टीम 18 रन से यह मैच हार गई। खराब शुराआत के बाद रविंद्र जडेजा (77) और एमएस धोनी (50) ने भारतीय पारी को पटरी पर लाने की शानदार कोशिश की। लेकिन दोनों ही बल्लेबाज अंतिम पलों में अपने विकेट गंवा बैठे और भारत को यहां 18 रन से हार का सामना करना पड़ा। एक वक्त 92 रन पर 6 विकेट गंवा चुकी टीम इंडिया को जडेजा-धोनी ने बखूबी संभाला था। दोनों ने 7वें विकेट के लिए 116 रन की साझेदारी निभाई।
इससे पहले स्विंग लेती हुई गेंदों के सामने भारतीय बल्लेबाजी के फ्लॉप शो ने एक बार फिर यह पोल खोल दी कि जब-जब गेंद हरकत करती है, तो भारतीय बल्लेबाजी लचर ही साबित होती है। 240 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया की शुरुआत यहां बेहद खराब रही। पारी के दूसरे ही ओवर में शानदार फॉर्म में चल रहे रोहित शर्मा (1) मैट हैनरी की स्विंग को संभाल नहीं पाए और गेंद उनके बैट को चूमती हुई सीधे विकेटकीपर टॉम लेथम के हाथ में पहुंची।

इसके बाद अगले ही ओवर में कप्तान विराट कोहली को ट्रेंट बोल्ट ने अपना शिकार बनाया। इस लेफ्टआर्म बोलर की अंदर आती हुई गेंद पर विराट बल्ले से छूने से चूक गए और गेंद सीधे पैड पर टकरा गई। विराट ने खुद को सुरक्षित बचाए रखने के लिए डीआरएस जरूर मांगा लेकिन कैमरे से साफ हो गया कि गेंद स्टंप की चूमते हुए जा रही थी। निर्णय अगर-मगर में था, तो नियम के अनुसार अंपायर के निर्णय को ही सही माना गया। कोहली निराश होकर पविलियन लौट गए। अगले ओवर में दूसरे ओपनर केएल राहुल भी मैट हैनरी की स्विंग को नहीं संभाल पाए और वह भी विकेटकीपर को कैच देकर पविलियन लौट गए। 3.1 ओवर में भारत ने अपने टॉप 3 बल्लेबाज गंवा दिए और स्कोरबोर्ड पर अभी सिर्फ 5 रन ही थे।
ण के सामने उन्हें लगातार संघर्ष करना पड़ा।