दार्जिलिंग नगर पालिका पर भाजपा का बहुमत, 17 पार्षदों ने ली पार्टी की सदस्यता
   Date09-Jun-2019
नई दिल्ली द्य 8 जून (वा)

पश्चिम बंगाल में दार्जिलिंग नगर पालिका के आधे से अधिक पार्षदों ने गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (विनय तमांग गुट) छोड़कर शनिवार को यहां भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम लिया।
भाजपा में पश्चिम बंगाल के प्रभारी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, पार्टी के वरिष्ठ नेता मुकुल रॉय एवं दार्जिलिंग के सांसद पवन बिष्ट की मौजूदगी में 32 सदस्यीय नगर पालिका में तृणमूल कांग्रेस के सहयोग पार्टी के 17 सदस्यों ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण की। इस मौके पर श्री रॉय ने संवाददाताओं से कहा कि आज से दार्जिलिंग नगर पालिका में भाजपा का बहुमत है। उन्होंने पार्षदों के साहस की सराहना करते हुए कहा कि तृणमूल कांग्रेस के साथी विनय तमांग को छोड़कर भाजपा में शामिल होने वाले पार्षदों पर पश्चिम बंगाल पुलिस के अत्याचार शुरू हो चुके हैं। उन्होंने घोषणा की कि एक सप्ताह के भीतर श्री विजयवर्गीय के नेतृत्व में दार्जिलिंग में भाजपा बड़ा प्रदर्शन करेगी।
श्री बिष्ट ने कहा कि बंगाल पुलिस के अत्याचार से महिला, पुरुष, बुजुर्ग, बच्चे कोई नहीं बच पा रहा है। राज्य के खजाने को 20 हजार करोड़ रुपए से अधिक का कर देने वाले इस क्षेत्र में तृणमूल कांग्रेस का उत्पीडऩ बढ़ता चला जा रहा है। पुलिस के आला अधिकारी शिकायतों पर चुप्पी साधे हैं और कोई जवाब नहीं दे रहे हैं लेकिन लोग अब डरेंगे नहीं। उन्होंने कहा कि अभी तो दार्जिलिंग नगर पालिका पर भाजपा का बहुमत हुआ है। जल्द ही कलिम्पोंग, कर्सियांग और मिरिक में भी यही दिखाई देगा। सांसद ने मांग की कि गोरखा स्वायत्तशासी परिषद को भंग किया जाना चाहिए। इस संस्था में तृणमूल कांग्रेस के चुने हुए लोग काबिज हैं, न कि विधिपूर्वक निर्वाचित लोग। श्री विजयवर्गीय ने कहा कि दिनाजपुर में भाजपा को विजय जुलूस निकालने से रोका गया है। कार्यकर्ता जनता को जीत के लिए धन्यवाद देना चाहते हैं लेकिन उन्हें उनके लोकतांत्रिक अधिकार एवं कर्तव्य से रोका जा रहा है। यह निंदनीय है। भाजपा इसका लोकतांत्रिक ढंग से विरोध करेगी।